Dharti Kab Tak Ghumegi । Bseb Class 10 Hindi धरती कब तक घूमेगी

Dharti Kab Tak Ghumegi Question Answer, dharti kab tak ghumegi notes in hindi, धरती कब तक घूमेगी subjective, वर्णिका भाग 2 कक्षा 10 | पाठ -5 धरती कब तक घूमेगी, Class 10th धरती कब तक घूमेगी कहानी का प्रश्न और उत्तर, Class 10th Hindi Dharti kab tak Ghumegi Subjective Question Answer, Dharti Kab Tak Ghumegi – हिंदी कक्षा 10 धरती कब तक घूमेगी, Bihar Board Class 10 Hindi वर्णिका chapter 5 धरती कब तक घूमेगी

Bihar Board Class 10th Hindi वर्णिका Chapter 5 Dharti Kab Tak Ghumegi – धरती कब तक घूमेगी Question Answer

पाठ – 5 : धरती कब तक घूमेगी
लेखकसाँवर दईया

1. सीता अपने ही घर में क्यों घुटन महसूस करती है ?

उत्तर –  सीता के पति के मरते ही घर की स्थिति दयनीय हो गई ! भाइयों में आपसी मतभेद उत्पन्न हो गए  ! केवल अपनी पत्नी और संतान में ही सिमट गए ! मां की देखरेख एवं भरन पोषण के लिए एक एक महीने का पारी बांध लिया ! सीता किसी भी बेटे के साथ रहती ! तो दुखी ही रहती थी ! तथा अपने बहुओ के जली कोटि बाते सुनती ही रहती थी ! वह अपने ही बेटो से तंग हो चुकी थी ! और अपनी दर्द को किसी से कह भी नहीं सकती थी ! यही कारण है ! की सीता अपने ही घर में घुटन महसूस करने लगी |

2. पाली बदलने पर अपने घर दादी माँ के खाने को लेकर बच्चे खुश होते हैं ! जबकि उनके माता-पिता नाखुश ! बच्चे की खुशी और माता-पिता की नाखुशी के कारणों पर विचार करें ?

उत्तर – बच्चों का मन साफ सुथरा होता है ! बच्चों को दादी दादा नाना नानी से बहुत लगाव होता है ! अपनी पाली में दादी को पाकर वे खुशी से झूम उठते हैं ! उनके माता पिता भले ही दुखी होते हैं ! परंतु बच्चों में काफी खुशी झलकती है ! बच्चों के माता – पिता खर्च से नाखुश हो जाते है ! यही कारण है ! कि पाली बदलने पर बच्चे खुश और उनके माता – पिता नाखुश हो जाते है |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

धरती कब तक घूमेगी पाठ के प्रश्न उत्तर

3. इस समय उसकी आँखों के आगे न तो, अँधेरा था और न ही उसे धरती और आकाश के बीच घुटन हुई ! सप्रसंग व्याख्या करें ?

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति सांवर दइया द्वारा रचित धरती कब तक घूमेगी शीर्षक से लिया गया है ! इस पंक्ति के माध्यम से लेखक यह बताना चाहते हैं ! कि जब सीता के तीनों बेटे ने 50 – 50 रुपया देकर मां को अलग कर दिया ! तो मां यह निर्णय लेती है ! कि जब मजदूरी ही करना है ! तो इनलोगों के घर क्या करुँगी ! और रात के अँधेरे में घर से निकल जाती है ! अब उसके आँखों के सामने न ही अँधेरा था ! और ना ही धरती आकाश के बिच घुटन महसूस हो रही थी |

4. सीता का चरित्रचित्रण करें ?

उत्तर सीता एक ऐसी तीनों बेटों की माता थी ! जो असहाय थी ! पति के मरने के बाद उसके घर में कलह लग जाती है ! और तीनों बेटे अलग अलग हो जाते हैं ! बेटे और बहुओं की दूधकार वह मूल रूप से सहन कर लेती है ! उसकी बहू समय – समय पर उसका ताना मारती रहती है ! जिस तरह धरती सब को सहन करने वाली माँ होती है ! उसी तरह सीता सब कुछ सहन करने वाली माता है ! बच्चो के द्वारा 50 – 50 रुपया देने का निर्णय लेने पर वह घर से सब कुछ त्याग कर निकल जाती है ! वह सोचती है ! की भले ही दुसरे के यहाँ मजदूरी का लुंगी ! बर्तन साफ़ करुँगी ! परन्तु इनके यहाँ एक पल भी नहीं रहूंगी |

dharti kab tak ghumegi notes in hindi bihar board

5. कहानी के शीर्षक की सार्थकता स्पष्ट करें ?

उत्तर प्रस्तुत कहानी  राजस्थानी भाषा में सावर दइया द्वारा रचित धरती कब तक धुमेगी शीर्षक से लिया गया है ! इस कहानी में सामजिक बिडम्वना का चित्रण किया गया है ! इसकी प्रमुख पात्रा सीता थी ! पति के मरने के बाद बच्चो के रहते हुए भी वह असहाय हो गई थी ! बच्चो की पत्नी उसे हमेशा ताना मरती रहती थी ! जिससे सीता अपने ही घर में घुटन महसूस करती थी ! बेटो के इशारे पर वह कब तक इधर-उधर भटकती ! इसलिए एक दिन रात्री में वह घर छोड़कर निकल गई ! इससे स्पष्ट होता है ! की प्रस्तुत कहानी का शीर्षक धरती कब तक धुमेगी लेखक ने स्टिक रखा |

Class 10 Hindi Objective Notes – Exam 2024
पाठ – 1श्रम विभाजन और जाति प्रथा
पाठ – 2विष के दांत
पाठ – 3भारत से हम क्या सीखें
पाठ – 4नाखून क्यों बढ़ते हैं
पाठ – 5नागरी लिपि
पाठ – 6बहादुर
पाठ – 7परंपरा का मूल्यांकन
पाठ – 8जित-जित मैं निरखत हूँ
पाठ – 9आविन्यो
पाठ – 10मछली
पाठ – 11नौबतखाने में इबादत
पाठ – 12शिक्षा और संस्कृति

Leave a Comment

error: Content is protected !!