Roj Question Answer | Bseb Class 12th Hindi रोज Subjective

Hindi Class 12 Chapter 5 रोज पाठ Roj kahani ka subjective, roj kahani ka question answer, रोज कहानी की समीक्षा pdf, Bihar Board Class 12th Hindi Book Solutions गद्य Chapter 5 रोज, रोज – अज्ञेय Subjective Questions bihar board, Hindi subjective 12th Hindi Roj kahani ka question answer in hindi

Bihar Board Class 12 Hindi Chapter 5 Roj Subjective Question Answer

पाठ – 5 रोज
शीर्षक : सच्चितानंद हीरानंद वात्सयय अज्ञेय
जन्म : 7 मार्च 1911मुत्यु : 4 अप्रैल 1987निवास स्थान : कर्तारपुर पंजाब

1. मालती की पति महेश्वर की छवि को बतावे ?

उत्तर – महेश्वर किसी पहाड़ी कसबे में एक सरकारी डिस्पेंसरी में डॉकटर है ! रोज डिस्पेंसरी जाना मरोजो को देखना , गैग्रिन का अपरेशन करना थका – मदा घर लौटना यही महेश्वर की दिनचर्या है ! महेश्वर हर तीसरे – चौथे दिन एक गैग्रिन का अपरेशन करता है ! किन्तु वे अपने घर में ही वाही गैग्रिन वह एक रास्ता मुंह फैलाए उपस्थित है ! जिसका हम कुछ नहीं बिगाड़ पाते महेश्वर के घर में गैग्रिन से बड़ी भी उदासी है ! परन्तु उसका इलाज वह नहीं कर पाता है |

2. गैग्रिन क्या है ?

उत्तर – पहाडियों पर रहने वाले व्यक्तियों को कांटा चुबना आम बात है ! परन्तु काँटा चुभन के बाद बहुत दिनों तक छोड़ देने के बाद व्यक्ति का पाँव का जख्म का दर्द बहुत बढ़ जाता है ! जिसका इलाज मात्र पाँव काटना ही है ! काँटा चुभने पर जख्म ही गैग्रिन है |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

3. मालती और लेखक के संबंध का परिचय पाठ के आधर पर दे ?

उत्तर – लेखक मालती के दूर के रिश्ते का भाई है ! किन्तु लेखक का संबंध भाई – बहन का ही रहा है ! लेखक और मालती बचपन में एक साथ इकठ्टे खेले थे लादे भी थे ! साथ में पिटा-पिटी भी किए थे लेखक की पढाई भी मालती के साथ ही हुई थी ! दोनों का प्रेम कभी भाई तथा कभी साथी का रहा है |

कक्षा 12 हिन्‍दी रोज नोट्स 

4. रोज कहानी का सारांश अपने शब्दों में लिखे ?
‘अथवा’
Q. रोज का कथानक प्रस्तुत करे ?

उत्तर – कहानी के पहले भाग में मालती द्वारा अपने भाई के अप्चारिक स्वागत का उल्लेख है ! जिससे कोई उत्साह नहीं है ! घर पर अतिथि के आने पर कुशल समाचार तक नहीं पूछती है ! प्रश्नों को संक्षिप्त में उत्तर देती है ! बचपन में बातूनी करने वाली लड़की शादी के दो वर्षो बाद इतनी चुप रहती है ! की लगता है ! उसके ऊपर काली साया मंडरा रही है ! मालती अन्दर से काफी दुखी रहती है ! जिससे स्पष्ट होता हाउ उसका जीवन काफी निरश हो रहा है ! मालती का बच्चा तिरी बराबर रोता है ! परन्तु मालती उसे सही तरह से पालन नहीं कर पाती है |

12th class hindi roj lagutariy prashn evm dirghutariy prashn

बच्चा चिडचिडा हो जाता है ! मालती दिनभर काम करती है ! पति खाने के बाद दोपहर 3 बजे और रात में 10 बजे के बाद ही भोजन करती है ! बच्चे का रोज रोना मालती को देर से भोजन करना पति को सुबेरे डिस्पेंसरी जाकर दोपहर को लौटना और शाम को फिर डिस्पेंसरी में रोगियों को देखना यह सब कुछ मालती के जीवन में रोज एक ही जैसा है ! इस लिए कवि इस कहानी का शीर्षक रोज रखा है ! मालती के जीवन निराशापूर्ण बीत रहा है ! घर में अकेलेपन महसूस हो रहा है ! लेखक इनकी दुर्दशा को देखकर यह कहता है ! की बचपन में चहक – पहक वाली लड़की आज कैसे शांत और उषाउपन जीवन जी रही है ! मालती के जीवन में निराशा ही निराशा है |

5. मालती के घर का वातावरण कैसा था ! अर्थात मालती के चरित्र का मनोवैज्ञानिक उदघटना प्रस्तुत करे| अथवा रोज कहानी में मालती को देखकर लेखक नए क्या कहाँ ?

उत्तर – कहानी के प्रथम भाग में ही मालती के उदासिपन जीवन की झलक मिल रही है ! जब वह अतिथि का स्वागत केवल अप्चारिक ढंग से करती है ! जबकि अतिथि उसके रिश्ते का भाई है !  जिसके साथ वह बचपन नए खूब खेलती थी पर वर्षो के बाद आए भाई का स्वागत उत्साह पूर्वक नहीं कर पाती बल्कि जीवन की एनी अपचारिक्ताओ  की तरह एक और अपचारिकता निभा देती है ! लेखक देखते है ! की मालती अतिथि से कुछ नहीं पूछती बल्कि उसके प्रश्नों के संक्षिप्त उत्तर ही देती है ! मालती के घर में काफी उदासी है ! उसे अकेलापन हमेशा महसूस होता है ! मालती के पति के घर से चले जाने के बाद सुबह रात से 11 बजे तक घर के कार्यो में व्यस्त रहती है ! उसका जीवन उबाऊ और उदासी के बिच हमेशा चलता है ! किसी तरह के ख़ुशी और उल्लास उसके जीवन में नहीं है |

Class 12th Hindi 100 Marks Subjective Notes गद्य खण्ड
पाठ – 1बातचीत 
पाठ – 2उसने कहाँ था 
पाठ – 3सम्पूर्ण क्रांति 
पाठ – 4अर्धनारीश्वर 
पाठ – 5रोज 
पाठ – 6एक लेख और एक पत्र 
पाठ – 7ओ सदानीरा 
पाठ – 8सिपाही की माँ 
पाठ – 9प्रगीत और समाज 
  पाठ – 10जूठन 
  पाठ – 11हँसते हुए मेरा अकेलापन 
  पाठ – 12तिरिछ 
  पाठ – 13शिक्षा
Class 12th Hindi Subjective Notes पद्य खण्ड
पाठ – 1कड़बक 
पाठ – 2सूरदास के पद 
पाठ – 3तुलसीदास के पद 
पाठ – 4छप्पय
Rate this post

Leave a Comment