Krishi question answer | Bseb Class 10 Geography कृषि Subjective

Krishi question answer, भूगोल कक्षा 10 अध्याय 2 question and answer, कृषि प्रश्न उत्तर, class 10 krishi bihar board, कृषि mcq class 10 bihar board, Bihar Board 10th class Geography chapter 2 कृषि, Bihar Board Class 10 Geography krishi Questions Answers, भूगोल कक्षा 10 अध्याय 2 krishi question answer, Class 10 geography chapter 2 question and answer in hindi bihar board, bseb 10th class bhugol chapter 2 krishi notes

Bihar Board Class 10th Geography Chapter 2 Krishi – कृषि प्रश्न उत्तर

पाठ – 2 : कृषि

1. गन्ने की उपज उतरी भारत की अपेक्षा दक्षिण भारत में अधिक है” कैसे ?

उत्तर – गन्ने की उपज उतरी भारत की अपेक्षा दक्षिण भारत में अधिक इसलिए है” कि दक्षिण भारत की जलवायु उष्ण कटिबंधीय जलवायु है” जिसमें गन्ने के पौधे को पर्याप्त मात्रा में आहार मिलता है” जो पौधे के विकास मिठास तथा रस तीनों में वृद्धि करता है |

2. गहन जीविका कृषि से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर – गहन कृषि पद्धति वहां अपनाया जाता है” जहां भूमि पर जनसंख्या का प्रभाव अधिक है” इसमें श्रम की आवश्यकता होती है” परंपरागत कृषि कौशल का भी इसमें भरपूर उपयोग किया जाता है” भूमि की उर्वरता को बनाए रखने के लिए परंपरागत ज्ञान बीजों के रख रखाव एवं मौसम संबंधित अनेक ज्ञान का इसमें उपयोग किया जाता है |

Movies & Update WhatsApp Join Now

Study Notes & Pdf WhatsApp Join Now
3. भारतीय कृषि की पांच प्रमुख विशेषताओं को लिखें ?

उत्तर – भारतीय कृषि की पांच प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित है” जो इस प्रकार से है –

. कृषि विशाल जनसंख्या को भोजन उपलब्ध कराती है |
. कृषि देश के 65% आबादी को रोजगार दे रही है |
. भारतीय कृषि फसलों के दृष्टि से विधातापूर्ण है |
. कृषि उद्योग के लिए कच्चा माल उपलब्ध करा रही है |
. कृषि शुद्ध राष्ट्रीय आय में 24% योगदान दे रही है |

4. भारत में उपजाए जाने वाले वर्षाधीन फसलों के नाम लिखिए ?

उत्तर – वर्षा ऋतु के अधीन भारत में पाए जाने वाली फसलों में धान ज्वार बाजरा तथा मक्का प्रमुख है |

5. हरित क्रांति से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर – हरित क्रांति का संबंध कृषि क्षेत्र से जुड़ा हुआ है” जिसका प्रारंभ भारत में 1967 में हुआ है” सरकार के द्वारा उन्नत किस्म का खाद बिज के साथ सिंचाई के साधन उपलब्ध कराने का प्रयास है” ताकि कृषि क्षेत्र में उत्पादन को बढाया जा सके इसका साकारात्मक प्रभाव गेहू पर विशेष रूप से देखा जाता है |

6. नगदी फसल और रोपण फसल में अंतर स्पष्ट करें ?

उत्तर – नगदी फसल और रोपण फसल के बीच मुख्य अंतर है” जो इस प्रकार से है –

. नगदी फसल का उद्देश्य तात्कालिक लाभ प्राप्त करना है” जबकि रोपण फसल का उद्देश्य लंबी अवधि तक आय प्राप्त करना है |. नगदी फसल का मालिक उत्पादक कर्ता ही होता है” जबकि रोपण फसल के अंदर मालिक और मजदूर की स्थिति बन जाती है |. नगदी फसल आम लोगों के उपयोग का होता है” जबकि रोपण फसल औद्योगिक क्षेत्र के लिए होता है |

krisi question answer bihar board

7. शुद्ध राष्ट्रीय उत्पादन में कृषि के योगदान की चर्चा कीजिए ?

उत्तर – भारत में शुद्ध राष्ट्रीय आय में कृषि का योगदान लगातार घटता हुआ दिखाई दे रहा है” फिर भी वर्तमान समय में कृषि शुद्ध राष्ट्रिय आय में 24% का योगदान दे रही है” जिसमें यह भी जाना जाता है” की कृषि भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ है |

8. भारत में उपजाए जाने वाले प्रमुख खाद एवं व्यवसायिक फसलों के नाम लिखिए ?

उत्तर – भारत में उपजाए जाने वाले प्रमुख खाद फसलों में चावल गेहूं मक्का ज्वार बाजरा दलहन एवं तिलहन है” प्रमुख व्यवसाय की फसलों में गाना चाय कॉफी कापास तथा जुट है |

9. भारत में उपजाने वाली दो खाद नगदी एवं रेशे वाली फसलों के नाम लिखिए ?

उत्तर – भारत में उपजाने वाली दो खाध फसले चावल तथा गेहू दो नगदी फसले गन्ना और मक्का तथा दो रेशे वाली फसले कपास और जुट है |

10. कपास की खेती दक्कन प्रदेश की काली मिट्टी में अधिकांशत होती है” कारण बताओ ?

उत्तर – कपास की खेती दक्कन प्रदेश की काली मिट्टी में इसलिए होती है” की इस मिट्टी का निर्माण लावा निर्मित है” जो पौधों के लिए पर्याप्त आधार तथा नमी दोनों बनाए रखती है” साथ साथ इस प्रदेश में पाला का असर बहुत कम देखा जाता है” जो कपास के लिए अनुकूल होता है |

11. चावल के उत्पादन के लिए मुख्य भौगोलिक दशाओं का वर्णन करते हुए भारत के चावल उत्पादक क्षेत्रों का उल्लेख करें ?

उत्तर – चावल के निम्नलिखित भौगोलिक दशाएँ है” जो इस प्रकार से है –

क. तापमान :- चावल की खेती के लिए उपयुक्त तापमान 20 – 30 डिग्री C तक होता है |

ख. भूमि :- चावल की खेती के लिए समतल भूमि की आवश्यकता होती है” ताकि खेतों में पानी जमा रह सके |

ग. मिट्टी :- चावल की खेती के लिए जलोढ दोमट मिट्टी उपयुक्त मानी जाती है |

घ. वर्षा :- चावल की खेती के लिए उपर्युक्त वर्षा 200CM की आवशयकता होती है” कम वर्षा वाले क्षेत्रो में उतम सिचाई की व्यवस्था आवश्यक होती है |

ड. श्रमिक :- चावल की खेती के लिए सस्ते श्रमिक की आवश्यकता है |

च. प्रमुख उत्पादक क्षेत्र :- धान की खेती मुख्यत: गंगा ब्रह्मपुत्र के मैदान में तथा तटीय भागों में की जाती है” इसके प्रमुख उत्पादक राज्य पश्चिम बंगाल उत्तर प्रदेश आंध्र प्रदेश पंजाब हरियाणा बिहार है |

Class 10 geography chapter 2 krishi question and answer in hindi

12. भारत कपास का आयात एवं निर्यात दोनों करता है ?

उत्तर – भारत कापास का आयात एवं निर्यात दोनों इसलिए करता है ! कि हमारे जलवायु हमेशा एक समान नहीं होती है” जिस वर्ष पाला का प्रकोप नहीं होता है” उस वर्ष भारत कपास का निर्यात करता है” तथा जिस वर्ष पाला का प्रकोप पौधों को नुकसान पहुंचाता है” वह वर्ष भारत कापास का आयात करता है |

13. भारत विश्व का एक अग्रणी चाय निर्यातक देश है ?

उत्तर – भारत विश्व का एक अग्रणी चाय निर्यातक देश इसलिए है ! कि इसकी खेती ढालूंनुमा स्थान पर की जाती है ! जो भारत में पर्याप्त है ! साथ – साथ वर्षा तथा तापमान भी निश्चित अनुपात में मिलता है ! जिसके कारण भारत अधिक से अधिक चाय का उत्पादन करता है ! तथा विश्व के अन्य देशो में निर्यात करता है |

14. जीवन निर्वाह कृषि से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर – इस प्रकार की कृषि उन क्षेत्रों में की जाती है ! जहां कृषक अपने जीवन लायक कृषि उत्पादन करता है |

15. गेहूं के भौगोलिक दशाओं के बारे में लिखें ?

उत्तर – गेहू जाड़े ऋतु में उगाया जाता है ! पकते समय इसे खिली धूप में सुखाया जाता है ! तथा उगाने के लिए समान रूप से विपरीत 50 – 55 CM वार्षिक वर्षा की आवशयकता है ! इसके लिए उपयुक्त मिट्टी दोमट की आवशयकता होती है ! तथा सिचाई की सहायता से 20CM वार्षिक वर्षा क्षेत्रो में भी उगाई जाती है |

16. भारतीय कृषि की निम्न उत्पादकता के कारण को संक्षेप में लिखिए ?

उत्तर – भारतीय कृषि की निम्न उत्पादकता के कई कारण है ! जो इस प्रकार से है –
. कृषि पर जनसंख्या का बढ़ता हुआ भार
. खेतों का छोटा आकार
. सिंचाई की कम सुविधा
. मानसून पर निर्भरता
. कृषि योग्य भूमि की निम्नीकरण
. किसानों के पास कम पूंजी

17. व्यापारिक कृषि और निर्वाह कृषि में अंतर स्पष्ट करें ?

उत्तर – व्यापारिक कृषि और निर्वाह कृषि के बीच निम्नलिखित अंतर है ! जो इस प्रकार से है –

क. व्यापारी कृषि का उत्पादन आय प्राप्त करने के लिए होता है ! जबकि निर्वाह कृषि का उत्पादन जीवन यापन के उद्देश्य होता है !
ख. व्यापारिक कृषि पूंजीपतियों की कृषि समझी जाती है ! जबकि निर्वाह कृषि साधारण किसान तथा मजदूरों की कृषि समझी जाती है |

उपर्युक्त फसलों के उत्पादन करने वाले दो प्रमुख राज्यों के नाम लिखिए ?

क. चावल —  इसका उत्पादन सबसे अधिक पश्चिम बंगाल तथा उत्तर प्रदेश में होता है |
ख. गेहूं —      इसका उत्पादन सबसे अधिक उत्तर प्रदेश तथा पंजाब में होता है |
ग. गन्ना —      इसका उत्पादन सबसे अधिक महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश में होता है |
घ. मक्का —   इसका उत्पादन सबसे अधिक कर्नाटक तथा उत्तर प्रदेश में होता है |
ड. कपास —  इसका उत्पादन सबसे ज्यादा महाराष्ट्र गुजरात में होता है |
च . जुट —     इसका उत्पादन सबसे अधिक पश्चिम बंगाल तथा बिहार में होता है |

कृषि class 10th geography chapter 2 bihar board

18. स्थानिक ऊंचाई से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर – स्थानिक ऊंचाई मानचित्र में धरातल के किसी स्थान की समुद्र तल से ऊंचाई प्रदर्शित करने वाले बिंदु को कहते हैं ! इसमें बिंदुओं के द्वारा मानचित्र में विभिन्न स्थानों की ऊंचाई संख्या लिख दिया जाता है |

19. भारत के गेहूं उत्पादक क्षेत्र कौन – कौन से है ?

उत्तर – भारत के गेंहू उत्पादन क्षेत्र में  पंजाब, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश ,हरियाणा, मध्य प्रदेश ,राजस्थान ,इत्यादि आते है |

Class 10th Geography Subjective Notes – भूगोल
पाठ – 1भारत : संसाधन एवं उपयोग
पाठ – 1Aप्राकृतिक संसाधन
पाठ – 1Bजल संसाधन
पाठ – 1Cवन एवं वन्य प्राणी संसाधन
पाठ – 1Dखनिज संसाधन
पाठ – 1Eशक्ति (ऊर्जा) संसाधन
पाठ – 2कृषि
पाठ – 3निर्माण उद्योग
पाठ – 4परिवहन, संचार एवं व्यापार
पाठ – 5बिहार : कृषि एवं वन संसाधन
पाठ – 5Aबिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन
पाठ – 5Bबिहार : उद्योग एवं परिवहन
पाठ – 5Cबिहार : जनसंख्या एवं नगरीकरण
पाठ – 6मानचित्र अध्ययन
पाठ – 7आपदा प्रबंधन

Leave a Comment

error: Content is protected !!