Bseb Class 10 Geography बिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन

bihar khanij evam urja sansadhan question answer, bihar khanij aur urja sansadhan notes in hindi bihar board, Bihar Board Class 10 Geography बिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन, कक्षा 10 भूगोल बिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन, class 10th bhugol बिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन के प्रश्न उत्तर, bseb class 10th geography bihar khanij evam urja sansadhan notes

Bihar Board Class 10th Geography Chapter 5A Bihar Khanij Evam Urja Sansadhan

पाठ – 5A  : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन

1. उच्चावच प्रदर्शन की प्रमुख विधियों का उल्लेख कीजिए ?

उत्तर – धरातल पर पाई जाने वाली उच्च्चवच को प्रदर्शित करने के लिए निम्नलिखित विधियाँ दिया है ! जो इस प्रकार से है –

क.  हैश्युर विधि :- इस विधि के अंतर्गत मानचित्र में छोटी वहीन एवं खंडित रेखाएं खींची जाती है ! यह रेखाएं ढाल की दिशा में खींची जाती है ! इसमें ढाल का सही-सही ज्ञान पता होता है |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

ख.  पर्वतीय छायाकरण :- इस विधि से प्रदर्शित ऊंचा शुरुआत ऊपर से लिए गए फोटोग्राफ के समान प्रतीत होता है |

ग.  स्थानीय ऊंचाई :- तल चिन्ह की सहायता से किसी स्थान विशेष की मापी गई ऊंचाई को स्थानीय ऊंचाई कहा जाता है |

घ.  त्रिकोणमितीय स्टेशन :- इसका उपयोग त्रिभुज विधि द्वारा सर्वेक्षण करते समय स्टेशन के रूप में हुआ था |

ङ.  स्तर रंजन :- रंगीन मानचित्र में रंगों की विभिन्न अभावो के द्वारा अभ्यारण प्रदर्शन का एक मानक निश्चित किया जाता है |

च. सर्वोच्च रेखाएं :- सर्वोच्च रेखाएं भूतल पर समुद्र तल से एक समान ऊंचाई वाले स्थानों को मिलाकर मानचित्र पर खींची जाने वाली काल्पनिक रेखाएं हैं |

छ. तल चिन्ह :- इस विधि द्वारा पुलों स्तंभ पर समुन्द्र तल से मापी गई उचाई को प्रदर्शित करने वाले चिन्ह को तल चिन्ह कहा जाता है |

Bihar Board Class 10 Geography बिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन Notes

2. बिहार में पाए जाने वाले खनिजों को वर्गीकृत कर किसी एक वर्ग के खनिज का वितरण एवं उपयोगिता को लिखे ?

उत्तर – बिहार में पाए जाने वाले खनिज के दो भागों में वर्गीकृत किया गया है ! जो इस प्रकार से है –

क. धात्विक खनिज आधात्विक खनिज :- इन दोनों खनिजो में से धात्विक खनिज का वितरण एवं उपयोगिता का वर्णन इस प्रकार से है – बिहार में धात्विक खनिज के रूप में बॉक्साइट मैग्नाटाईट और सोना अयस्क तीन ही पाए जाते हैं |

ख.  बॉक्साइट :- बिहार में बॉक्साइट की कुल अनुमानित भंडार 1.45 मैट्रिक टन है ! यह गाया जमुई और बांका जिले में पाया जाता है |

ग. मैग्नाटाईट :- यह एक पत्थर का रूप है ! जिसका बिहार में कुल अनुमानित भंडार 8.39 हजार मैट्रिक टन है ! जो बिहार के पहाड़ी क्षेत्र से प्राप्त किया जाता है |

घ. सोना अयस्क :- बिहार में सोना अयस्क की स्थिति काफी दयनीय है ! बिहार में सोना का कोई खान नहीं है ! बल्कि नदियों से बालू निकलते समय 1 टन बालू के साथ 0.1 ग्राम से 0.6 ग्राम तक सोना मिलने की उम्मीद रहती है ! इस आधार पर बिहार में सोना का अनुमानित भंडार 128.88 मैट्रिक टन है |

3. नई औद्योगिक नीति के मुख्य बिंदुओं का वर्णन करें ?

उत्तर – नई औधोगिक निति 2006 में आने से वर्त्तमान राज्य सरकार द्वारा  नए निवेशो को प्रोत्साहित करने के लिए उठाए गए कदम के बाद इस क्षेत्र में काफी उत्साह बढ़ा है ! राज्य में निवेश के 245 प्रस्ताव हुए है ! जिनमे 57.84 हजार करोड़ रुपया निवेश प्रस्तावित है |

4. बिहार में तापीय विद्युत केंद्रों का उल्लेख करें ?

उत्तर – बिहार में तापीय विद्युत केंद्र की स्थापना राष्ट्रीय तापीय विद्युत प्राधिकरण के द्वारा तीन इकाई के रूप में की गई है |

क. कहलगांव :- कहलगांव थर्मल पावर की उत्पादन क्षमता 840 मेगावाट है |

ख. बरौनी :- बरौनी थर्मल पावर की उत्पादन क्षमता 145 मेगावाट है |

ग. कांटी थर्मल :-  कांटी थर्मल पावर की उत्पादन क्षमता 120 मेगावाट है |

5. बिहार में जल विधुत विकास पर प्रकाश डालें ?

उत्तर – बिहार में जल विद्युत के विकास की अपार संभावनाएं है ! क्योंकि बिहार में नदियों और नहरों का जाल बिछा हुआ है ! अधिकांश नदिया हिमालय से निकलने के कारण सदा वाहिनी है ! जिनमें जल पर्याप्त रूप से पाया जाता है ! इन नदियों के ऊपर बांध का निर्माण कर जल विद्युत का उत्पादन किया जा रहा है |

6. अभ्रक कहां मिलता है ! इसका क्या उपयोग है ?

उत्तर – अभ्रक बिहार में नवादा जमुई और बांका में पाया जाता है ! अभ्रक का उपयोग मुख्य रूप से रंगोली तथा इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं के निर्माण में किया जाता है ! जिसका बिहार में कुल अनुमानित भंडार 60.35 हजार टन है |

bihar khanij evam urja sansadhan class 10th geography in hindi bihar board

7. तल चिन्ह और स्थानीय ऊंचाई क्या है ?

उत्तर – तल चिन्ह द्वारा किसी दीवार और तंबू आदि पर अंकित किसी चिन्ह को समुद्र तल से ऊंचाई प्रदर्शित की जाती है ! इसमें ऊंचाई फिट अथवा मीटर किसी एक इकाई में मानचित्र पर लिखा जाता है ! स्थानीय ऊंचाई मानचित्र में धरातल के किसी स्थान की समुद्र तल से ऊंचाई प्रदर्शित करने वाले बिंदु को कहते हैं ! इसमें बिंदुओं के द्वारा मानचित्र में विभिन्न स्थानों की ऊंचाई संख्या लिख दिया जाता है |

8. बिहार के प्रमुख ऊर्जा स्रोतों का वर्णन कीजिए” और किसी एक स्रोत का विस्तार से चर्चा करें ?

उत्तर – बिहार में ऊर्जा के स्रोत के रूप में पारंपरिक ऊर्जा तथा गैर पारंपरिक ऊर्जा दोनों थोड़े-थोड़े बहुत मात्रा में पाए जाते हैं ! पारंपरिक ऊर्जा के रूप में तीन तापीय विद्युत केंद्रों की स्थापना की गई है ! केंद्र सरकार द्वारा कहलगांव काटी तथा बरौनी में तापीय विद्युत केंद्र स्थापित किया गया है ! जिससे 18 हजार मेगावाट विधुत उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है ! गैर पारम्पारिक उर्जा के स्रोत के रूप में बिहार के अंदर सौर ऊर्जा और बायोगैस की स्थिति अच्छी दिखाई देती है ! क्योकि बिहार में लगभग एक वर्ष में 9 महीने सूर्य की किरन पर्याप्त मात्रा में पायी जाती है ! तो दूसरी तरफ बिहार पशुधन से भरा हुआ राज्य है ! इन दोनों का उपयोग कर सौर ऊर्जा और बायोगैस का उत्पादन किया जा सकता है |

9. बिहार में ग्रेफाइट एवं यूरेनियम के वितरण को लिखें ?

उत्तर – बिहार में ग्रेफाइट एवं यूरेनियम के स्थिति अच्छी नहीं है ! बिहार के 38 जिलों में मुंगेर रोहतास मात्र दो ही है ! ऐसे जिले हैं ! जहां अल्प मात्रा में ग्रेफाइट और यूरेनियम पाया जाता है ! इसकी स्थिति काफी खराब होने के कारण बिहार के पास अनुमानित भंडार का कोई आकड़ा मौजूद नहीं है |

10. समोच्च रेखा से आप क्या समझते हैं ! इसकी दो विशेषताएं कौन-कौन सी है ?

उत्तर – धरातल पर समुद्र तल से सामान ऊंचाई वाले समिस्प बिंदु को जोड़ने वाली कल्पित रेखा को समोच्च रेखा कहते हैं ! इसकी दो विशेषताएं इस प्रकार से है –
. समोच्च रेखा सदैव जीरो से प्रारंभ होता है ! इसके माध्य का अंतर सदैव समान रहता है |
. अगर समोच्च रेखा पास-पास है ! तो धरातल पर ढाल तीव्र होगा और अगर समोच्च रेखाए दूर – दूर है ! तो धरातल पर ढाल मंद होगा |

class 10th bhugol bihar khanij evm urja sanasadhan notes in hindi BSEB

11. बिहार की जनसंख्या सभी जगह एक समान नहीं है” स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर – बिहार की जनसंख्या वितरण सभी जगह समान रूप से नहीं है ! कहीं जनसंख्या बहुत अधिक है ! तो कहीं बहुत कम इसका मुख्य कारण यह है ! कि आर्थिक सामाजिक परिवेश एवं भौभिक विविधता है ! जहां भी धरातल समतल जलोढ एवं मैदानी है ! वहां घनी आबादी है ! इसके अलावा में सिंचाई सुविधा कृषि में नई का उपयोग नगरीकरण के कारण अधिक है ! जैसे – पटना मुजफ्फरपुर एवं भोजपुर जिले में अधिक है ! बेतिया शिवहर शेखपुर लकखीसराय जिले में जनसंख्या कम है ! इसका प्रमुख कारण है ! कृषि का पिछड़ापन एवं क्षेत्रफल होने के कारण जनसंख्या का सकेन्द्रण कम है |

Class 10th Geography Subjective Notes – भूगोल
पाठ – 1भारत : संसाधन एवं उपयोग
पाठ – 1Aप्राकृतिक संसाधन
पाठ – 1Bजल संसाधन
पाठ – 1Cवन एवं वन्य प्राणी संसाधन
पाठ – 1Dखनिज संसाधन
पाठ – 1Eशक्ति (ऊर्जा) संसाधन
पाठ – 2कृषि
पाठ – 3निर्माण उद्योग
पाठ – 4परिवहन, संचार एवं व्यापार
पाठ – 5बिहार : कृषि एवं वन संसाधन
पाठ – 5Aबिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन
पाठ – 5Bबिहार : उद्योग एवं परिवहन
पाठ – 5Cबिहार : जनसंख्या एवं नगरीकरण
पाठ – 6मानचित्र अध्ययन
पाठ – 7आपदा प्रबंधन
Rate this post

Leave a Comment