Aapda Prabandhan Notes | Bseb Class 10 Geography आपदा प्रबंधन

aapda prabandhan notes in hindi, Bihar Board Class 10 Disaster Management प्राकृतिक आपदा : एक परिचय Notes, आपदा प्रबंधन के प्रश्न उत्तर class 10th chapter 1, आपदा प्रबंधन के प्रश्न उत्तर class 10th chapter 2, आपदा प्रबंधन कक्षा 10 अध्याय 6 bihar board, class 10th geography aapda prabandhan subjective question

Bihar Board Class 10th Aapda Prabandhan Subjective Notes – आपदा प्रबंधन के प्रश्न उत्तर 

आपदा प्रबंधन नोट्स

1. प्राकृतिक आपदा एवं मानव जनित आपदा में अंतर स्पष्ट करें ?

उत्तर –  प्राकृतिक आपदा एवं मानव जनित आपदा में निम्नलिखित अंतर है ! जो इस प्रकार से है –
. प्राकृतिक आपदा ईश्वर के द्वारा उत्पन्न की जाती है ! जबकि मानव जनित आपदा मानव के द्वारा उत्पन्न किया जाता है |
. प्राकृतिक आपदा पर किसी का अधिकार नहीं होता है ! जबकि मानव जनित आपदा जान बूझकर या भूल से उत्पन्न होती है |
. प्राकृतिक आपदा से संपूर्ण जैव मंडल प्रभावित होता है ! जबकि मानव जनित आपदा से कुछ खास क्षेत्रीय लोग प्रभावित होते हैं |

2. आपदा से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर –  साधारण बोल चाल की भाषा में आपदा को आफत कहते हैं ! अचानक घटित होने वाली वैसी  घटना जिस का अनुमान हमें नही होता है ! उसे हम आपदा कहते हैं ! जिसके प्रभाव से संपूर्ण जैवमंडल दृश प्रभावित होता है |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

3. बाढ़ के कारण एवं इसकी सुरक्षा संबंधी उपायों का विस्तृत वर्णन करें ?

उत्तर –  बाढ़ के मुख्य रूप से निम्नलिखित कारण है ! जो इस प्रकार से है –

क. अत्यधिक वर्षा :- अत्यधिक वर्षा बाढ़ का प्रमुख कारण है ! नदियों का जल स्तर काफी बढ़ जाता है ! तथा आसपास के क्षेत्रों में इसका पानी प्रवेश कर जाता है |

ख. नदियों के जल स्तर में वृद्धि :- नदियों के जल स्तर में वृद्धि बाढ़ का प्रमुख कारण है |

ग. नेपाल द्वारा छोड़ा गया पानी :- नेपाल द्वारा छोड़ा गया पानी बिहार में प्रवेश कर जाता है ! जिससे बिहार में बहने वाली नदियों में तूफान आ जाता है ! जिससे चारों तरफ पानी फैल जाता है ! जो बाढ़ का एक प्रमुख कारण है |

4. आपदा प्रबंधन की आवश्यकता क्यों है ?

उत्तर –  आपदा प्रबंधन की आवश्यकता इसलिए होती है ! कि यह अचानक घटने वाली घटना है ! जिससे सभी प्रभावित होते हैं ! उस स्थिति में बचने की व्यवस्था नहीं की गई तो सबको नुकसान उठाना पड़ सकता है |

5. आपदा कितने प्रकार का होता है ?

उत्तर –  आपदा मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं –

क. प्राकृतिक आपदा :- ऐसी आपदा जो प्राकृतिक के द्वारा गठित होती है ! उसे प्राकृतिक आपदा कहते हैं | जैसे – सुखार, सुनामी

ख. मानव जनित आपदा :- ऐसी आपदा जो मानव के द्वारा घटित होती है ! उसे मानव जनित आपदा कहते हैं | जैसे – आतंकवाद, महामारी, रेलवे दुर्घटना

bihar board आपदा प्रबंधन के प्रश्न उत्तर class 10th chapter 1

6. बाढ़ से सुरक्षा हेतु अपनाई जाने वाली सावधानियों को लिखें ?

उत्तर –  बाढ़ से सुरक्षा हेतु अपनाई जाने वाली निम्नलिखित सावधानियां है ! जो इस प्रकार से है –
. भवन का निर्माण जो कम लागत की हो तथा रासायनिक मिश्रित कच्चे मालों का प्रयोग हो जिससे बाढ़ के बावजूद मकान बर्बाद नहीं हो सके |
. आम लोगों को मकान बनाने के पूर्व या जानकारी देनी होगी कि मकान का निर्माण पुर्णतः नदी के किनारे पर नहीं करनी चाहिए |
. बाढ़ के बाद जल निकालने की तत्कालिक व्यवस्था होनी चाहिए |
. मकान का न्यू तथा दीवार सीमेंट कंक्रीट का होनी चाहिए |

7. आपदा प्रबंधन की संकल्पना को स्पष्ट करते हुए आपदा प्रबंधन की आवश्यकता अनिवार्यता का वर्णन करें ?

उत्तर –  आपदा अचानक घटित होने वाली घटना है ! जिसके दृश्य प्रभाव से सभी प्रभावित होते हैं ! इसलिए आपदा से बचने के लिए संकल्प की जरूरत होती है ! जिसमें सभी मिलकर एक दूसरे का सहयोग करें अन्यथा आपदा किसी को भी नुकसान पहुंचा सकता है ! अंतरराष्ट्रीय स्तर से लेकर पंचायत स्तर तक एक कड़ी के रूप में काम करता है ! जिसमें आम लोगों को सुनिश्चित करनी होगी कि ऐसी स्थिति में आपदा प्रबंधन को अनिवार्य रूप से अपनाने की आवश्यकता होती है |

8. बाढ़ कैसे आती है ! अस्पष्ट करें ?

उत्तर –  अत्यधिक वर्षा से जब नदियों का जलस्तर बढ जाता है ! तथा नदियों के आसपास के क्षेत्रों में पानी प्रवेश कर जाता है ! तो इस घटना को ही बाढ़ कहते हैं |

9. बाढ़ से होने वाली हानियों की चर्चा करें ?

उत्तर –  बाढ़ से होने वाली हानियां निम्नलिखित है ! जो इस प्रकार से है –
. फसल की बर्बादी जान-माल तथा मवेशियों का भी काफी हानि होती है |
. जब बाढ आता है ! तो विभिन्न प्रकार की महामारीओ का शिकार होना पड़ता है |

10. बिहार में बाढ़ की स्थिति का वर्णन करें ?

उत्तर –  संपूर्ण भारत या विश्व में बिहार की स्थिति बाढ़ में अपना एक अलग भयानक स्थान रखती है ! बिहार में कोसी नदी को बिहार का शोक कहा जाता है ! 2008 ,में ऐसी भीषण बाढ़ बिहार में आई थी” जिससे लगभग पूरा बिहार तहस – नहस हो चुका था” बिहार की अधिकांशतर नदियों का उदगय स्थान नेपाल में है ! जब नेपाल द्वारा  पानी छोड़ा जाता है ! तो सबसे पहले इन नदियो द्वारा बिहार में इसका पानी प्रवेश कर जाता है ! जिससे कोसी , कमला, बलान , गंडक आदि नदियाँ आपना भयावह रूप ले लेती है ! जिससे बिहार में रहने वाले लोगो का जीवन संकट में हो जाता है |

11. बाढ़ नियंत्रण के लिए उपाय बतावे ?

उत्तर –  बाढ़ से नियंत्रण के लिए निम्नलिखित उपाय किए जा सकते हैं ! जो इस प्रकार से है –
तट बंध का निर्माण और स्तंभ आधारित मकान होनी चाहिए और और स्तंभ की गहराई काफी अधिक होनी चाहिए कम से कम 250 मीटर के दुरी पर घर बनानी चाहिए |

aapda prabandhan class 10th subjective notes bihar board

12. सूखे की स्थिति को परिभाषित करें ?

उत्तर –  जब औसत वर्षा से 25 % कम वारिस होती है ! तो उसे हम सुखाड कहते है |

13. सुखाड़ के लिए जिम्मेवार कारकों का वर्णन करें ?

उत्तर –  सुखाड़ के लिए जिम्मेदार कारक निम्नलिखित है ! जो इस प्रकार से है –
. वर्षा की कमी
. मानसून की अनिश्चितता
. तालाबों की कमी

14. सुखार से बचाव के तरीकों का उल्लेख करें ?

उत्तर –  सुखाड़ से बचाव के लिए निम्नलिखित तरीके अपनाए जा सकते हैं ! जो इस प्रकार से है –
. नहरो के विकाश करके
. तालाब कुआ खुदवा कर
. भूमिगत जल का उपयोग करके

15. आपदा प्रबंधन के उद्देश्य की विवेचना करें ?

उत्तर –  आपदा के पूर्व पश्चात इससे होने वाली क्षति के प्रभाव को कम करने या नियंत्रण करने की तैयारी को आपदा प्रबंधन कहा जाता है ! आपदा से ना केवल विकास कार्य रुक जाता है ! बल्कि कार्यों में बाधा उत्पन्न होती है ! जिससे बचाव के लिए आपदा प्रबंधन की आवश्यकता होती है |

आपदा प्रबंधन के निम्नलिखित उद्देश्य है ! जो इस प्रकार से है –
. आपदा के समय घटनाओं के प्रभाव को कम करना |
. आपदा के दौरान संसाधनों एवं मानव की रक्षा करने का प्रयास करना |
. आपदा जैसी घटनाओं का युवा वर्ग में प्रशिक्षण दिया जाना |
. आपदा ग्रस्त क्षेत्रों की पहचान करना और क्षेत्र का निर्धारण करना आम लोगों का आपदा जैसी घटनाओं के प्रति जागरूकता करना |

16. भूकंप क्या है ! भारत को प्रमुख भूकंप क्षेत्रों में विभाजित करते हुए सभी क्षेत्रों का संक्षिप्त विवरण दें ?

उत्तर –  भूमि के अंदर अचानक कंपन होना ही भूकंप कहलाता है ! भारत को पांच भूकंपीय क्षेत्रो में बाटा गया है ! जो इस प्रकार से है –

क. जोन नंबर 1 :-  इस जोन में दक्षिणी पठारी क्षेत्र आते हैं ! जहां भूकंप का खतरा नहीं के बराबर होता है |

ख. जोन नंबर 2 :-  इसके अंतर्गत प्रायद्वीपीय भारत के तटीय मैदान क्षेत्र आते हैं ! जहां भूकंप की संभावना होती है ! लेकिन तीव्रता कम होने के कारण अति सीमित खतरे होते हैं |

ग. जोन नंबर 3 :- इसके अंतर्गत गंगा सिंधु का मैदान राजस्थान तथा गुजरात के क्षेत्र आते हैं |

घ. जोन नंबर 4 :- इसमें अधिक खतरे होते हैं ! इसके अंतर्गत गुजरात कच्छ प्रदेश जम्मू-कश्मीर हिमाचल प्रदेश इत्यादि आते हैं |

ङ. जोन नंबर 5 :- यह सर्वाधिक खतरे वाला क्षेत्रफल है ! इसके अंतर्गत शिवालिक हिमालय का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी मौसम घाटी अंडमान निकोबार दीप समूह आते हैं |

17. सुखाड़ के कारणों एवं इसके बचाव के तरीकों का विस्तृत वर्णन करें ?

उत्तर –  मुख्य रूप से वर्षा की अत्याधिक कमी को सुखाड़ कहा जाता है ! इसके निम्नलिखित कारण इस प्रकार से है –
. वर्षा का ना होना
. मॉनसून की अनिश्चितता
. तालाब को एवं नहरों की कमी

इसके बचाव के निम्नलिखित उपाय इस प्रकार से है –

क.  दीर्घकालीन :- दीर्घकालीन योजना के अंतर्गत नहर तालाब कुआ पाइप इत्यादि के विकास की जरूरत है |

ख.   अल्पकालीन :-  पम्पी सेठ चांपा कल इत्यादि अल्पकालीन के अंतर्गत आते हैं ! इसका भी विकास करके सुखाड़ को दूर किया जा सकता है |

18. भूकंप के केंद्र एवं अधिकेंद्र के बीच अंतर स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर –  भूपटल के नीचे का वह स्थान जहां भुकम्प्नीय कम्पन प्रारंभ होता है ! उसे भूकम्प केंद्र कहते है |
भू-पटल पर वह केंद्र जहां भूकम्प के तरंग का सर्वप्रथम अनुभव होता है ! उसे अधिकेन्द्र कहते है |

19. भूकंप की तरंगों से आप क्या समझते हैं ! प्रमुख भूकंपीय तरंगों के नाम लिखिए ?

उत्तर –  भूकंप के समय उठने वाले कंपन को भूकंपीय तरंग कहते हैं ! प्रमुख भूकंपीय तरंगों के नाम इस प्रकार से है –
. प्राथमिक तरंग
. द्वितीय तरंग
. दीर्घ तरंग

20. भूकंप और सुनामी के बीच अंतर स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर –  भूकंप और सुनामी के बीच निम्नलिखित अंतर है ! जो इस प्रकार से है –

क. भूकंप :- पृथ्वी के अंदर या भूपटल में अचानक कंपन को ही भूकंप कहते हैं |

ख. सुनामी :- समुंदर के अंदर अचानक कम्पन से उसका पानी कई मीटर उचाई तक उछाल मारता है ! तथा वह पानी तट से टकराते हुए तटवर्तीय क्षेत्रो में प्रवेश कर जाता है ! जिससे जान-माल की काफी हानि होती है ! उसे ही सुनामी कहते है |

21. सुनामी से बचाव के कोई तीन उपाय बताइए ?

उत्तर –  सुनामी से बचाव के निम्नलिखित तीन उपाय इस प्रकार से है –
. सुनामी से बचने के लिए समुंदर के बीच में स्टेशन प्लेटफार्म का निर्माण होना चाहिए |
. सुनामी से बचने के लिए कंक्रीट तटबंध की जरूरत है |
. सुनामी से बचने के लिए गैर सरकारी संस्थाओं तथा सरकार द्वारा तटीय प्रदेश में रहने वाले लोगों को प्रशिक्षण देने की व्यवस्था करनी चाहिए |

ncert class 10th geography aapda prabandhan notes in hindi BSEB

22. भूकंप और सुनामी के विनाशकारी प्रभाव से बचने के उपायों का वर्णन कीजिए ?

उत्तर –  भूकंप एवं सुनामी एक प्राकृतिक आपदा है ! जिससे बचने के लिए निम्नलिखित प्रयास किए जा सकते हैं ! जो इस प्रकार से है –

क. भूकंप का पूर्वानुमान :- कुछ ऐसे रेंगने वाले जीव है ! जिसे भूकंप के पहले भूकंप आने का अनुमान हो जाता है ! जिससे वह सब चिल्लाने लगते हैं ! जो ऐसी स्थिति में हम लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा सकते हैं |

ख. भवन निर्माण :- भूकंप से बचने के लिए पिलर सहित भवन का निर्माण कराना चाहिए |

ग. कोने वाले स्थान पर छिपना :- भूकंप आने पर कोने वाले स्थान पर छुप जाना चाहिए |

घ. जान माल की सुरक्षा :- भूकंप के सूचना होने पर माल मवेशियों तथा बच्चों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा देना चाहिए |

ङ. सुनामी :- सुनामी भी एक प्राकृतिक आपदा है ! जिससे बचने के लिए समुंदरों के बीच प्लेटफार्म का निर्माण होना चाहिए तथा समुंद्र के किनारे जो बांध होते हैं’ वह काफी मजबूत एवं ऊंची बांधी जानी चाहिए जिससे तटवर्ती क्षेत्रों में समुद्र का पानी प्रवेश ना कर सके |

23. भूस्खलन के कितने रूप होते हैं ?

उत्तर –  भूस्खलन के मुख्यतः पांच रूप होते हैं ! जो इस प्रकार से है –
. वर्षा के पानी के साथ मिट्टी और कचरे का नीचे आना |
. कंकड़ पत्थर का गिरना |
. चट्टानों का खिसकना |
. कंकर पत्थर का खिसकना |
. चट्टानों का गिरना |

24. नागरिक सुरक्षा के क्या उद्देश्य हो सकते हैं ?

उत्तर –  यह जीवन रक्षा करने संपत्ति की छती घटाने तथा औद्योगिक हितों को सुरक्षित रखने का कार्य करता है |

25. हेम रेडियो के उपयोग पर प्रकाश डालें ?

उत्तर –  हेम रेडियो को एमेच्योर के नाम से भी जाना जाता है ! इसका प्रयोग गैर वाणिज्यिक परियोजनाओं के लिए किया जाता है ! जिसके संचालन में ऊर्जा की आवश्यकता जनरेटर हो या बैटरिया के द्वारा पूर्ति की जाती है ! हेम रेडियो अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार नियमों के अनुसार कार्य करता है ! इसका प्रयोग बड़ी बड़ी प्राकृतिक आपदा वाले क्षेत्र में किया जाता है |

26. आग लगने की स्थिति में क्या प्रबंध करना चाहिए उल्लेख करें ?

उत्तर –  आग लगने की स्थिति में निम्नलिखित प्रबंध करना चाहिए जिसका उल्लेख इस प्रकार से है –
. आग लगने की स्थिति में सबसे पहले आग में फंसे हुए लोग को बाहर निकालना चाहिए |
. घायल को तत्काल प्राथमिक उपचार देकर अस्पताल पहुंचाना चाहिए |
. प्राथमिक उपचार में ठंडा पानी डालना बर्फ से सालाना आदि का प्रयोग करना चाहिए |
. आग के फैलाव को रोकने के लिए बालू मिट्टी तालाब के जल का उपयोग करना चाहिए |
. यदि बिजली से आग लगी हो तो सबसे पहले बिजली का तार काटना जरूरी है |

27. भूकंप के प्रभाव को रोकने या कम करने के लिए किन्ही चार उपायों को लिखिए ?

उत्तर –  भूकंप के प्रभाव को कम करने के लिए सुरक्षित आवास निर्माण करके भी भीषण छति को कम किया जा सकता है !  इसके लिए 4 उपाय निम्नलिखित है –
. भवनों को आयताकार होना चाहिए |
. मकान के न्यू को मजबूत एवं भूकंप रोधी होना चाहिए |
. लंबी दीवारों को सहारा देने के लिए एक पत्थर कंक्रीट के कलम होनी चाहिए |
. निर्माण के पूर्व आस्था विशेष की मिट्टी का वैज्ञानिक अध्ययन होना चाहिए तभी न्यू तथा निर्माण कार्य होना चाहिए |

Class 10th Geography Subjective Notes – भूगोल
पाठ – 1भारत : संसाधन एवं उपयोग
पाठ – 1Aप्राकृतिक संसाधन
पाठ – 1Bजल संसाधन
पाठ – 1Cवन एवं वन्य प्राणी संसाधन
पाठ – 1Dखनिज संसाधन
पाठ – 1Eशक्ति (ऊर्जा) संसाधन
पाठ – 2कृषि
पाठ – 3निर्माण उद्योग
पाठ – 4परिवहन, संचार एवं व्यापार
पाठ – 5बिहार : कृषि एवं वन संसाधन
पाठ – 5Aबिहार : खनिज एवं ऊर्जा संसाधन
पाठ – 5Bबिहार : उद्योग एवं परिवहन
पाठ – 5Cबिहार : जनसंख्या एवं नगरीकरण
पाठ – 6मानचित्र अध्ययन
पाठ – 7आपदा प्रबंधन

Tags :- bihar board, aapda prabandhan in hindi, aapda prabandhan mcq, aapda prabandhan question answer

Rate this post

Leave a Comment