indhan hamari jarurat Notes | Bseb Class 8 Science ईंधन : हमारी जरुरत

indhan hamari jarurat Notes, bseb 8th class science notes ईंधन : हमारी जरूरत, Bihar Board Class 8 Science Solutions Chapter 9 इंधन, Bihar Board Class 8 Science इंधन : हमारी जरुरत, indhan hamari jarurat, class 8 science endhan hmari jarurat question answer

Bihar Board Class 8th Science Chapter 9 ईंधन : हमारी जरुरत

पाठ – ईंधन : हमारी जरुरत

1. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

क. _________ तथा ______ जीवाश्म ईंधन है |
उत्तर – प्राकृतिक गैस , कोयला

ख. __________ तथा _____ समाप्त नहीं होने वाले ईंधन के स्रोत है |
उत्तर – पवन उर्जा , सौर उर्जा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

ग. कोलतार __________ का उत्पाद है |
उत्तर – कोयला

घ. पेट्रोलियम के विभिन्न संघटको को पृथक करने का प्रक्रम __________ कहलाता है |
उत्तर – परिष्करण

ङ. वाहनों के लिए सबसे कम प्रदूषण ईंधन _______ है |
उत्तर – सीएनजी

indhan hamari jarurat | ईंधन हमारी जरुरत notes

2. निम्नलिखित कथनों के सामने सत्य / असत्य लिखिए

. जीवाश्म ईंधन प्रयोगशाला में बनाए जा सकते है | ( असत्य )

. कोक , कार्बन का शुद्ध रूप है | ( सत्य )

. पेट्रोल की अपेक्षा सीएनजी अधिक प्रदूषक ईंधन है | ( असत्य )

. बरौनी में तेल का कुआँ है | ( असत्य )

. कोलतार विभिन्न पदार्थो का मिश्रण है | ( सत्य )

bihar board class 8 science indhan hamari jarurat question answer

3. कोयला किस प्रकार बनता है ?

उत्तर – लगभग 300 मिलियन वर्ष पूर्व पृथ्वी पर निचले जलीय क्षेत्रो में घने वन थे | बाढ़ , भूकम्प आदि जैसे प्राकृतिक क्रियाओं के कारण ये वन मिट्टी में दब गए | और उनके ऊपर मिट्टी की परते जमती चली गई | और इनका आक्सीजन से सम्पर्क समाप्त हो गया | जिसके कारण उच्च ताप और दाब के चलते अवसादी शैलो की परतो के बिच में दबे रहे | निरंतर दबाब पड़ते रहने के कारण पौधे पिट में बदल गए और लिग्नाईट में और अंत में कोयला में बदल गए |

4. जीवाश्म ईंधन समाप्त होने वाले प्राकृतिक संसाधन क्यों है ?

उत्तर – जीवाश्म ईंधन समाप्त होने वाले प्राकृतिक संसाधन है | क्योकि यह प्राकृतिक का दिया हुआ संसाधन है | जो सिमित मात्रा में उपलब्ध है | इसका अधिक दोहन करने के उपरान्त यह समाप्त हो जायंगे | और इसे बनने में लाखो – करोडो वर्ष लग जायेंगे |

5. ईंधन कितने प्रकार के होते है ?

उत्तर – उत्पति के आधार पर ईंधन दो प्रकार के होते है –

क. प्राथमिक ईंधन :- लकड़ी , कोयला , तेल , पेट्रोलियम , आदि

ख. द्रितियक ईंधन :- चारकोल , कोक , रसोई गैस , आदि

भौतिक अवस्था के आधार पर यह तीन प्रकार का होता है –

ठोस :- कोयला , लकड़ी
द्रव :- पेट्रोलियम
गैस :- प्राकृतिक गैस

Bseb Class 8th Science indhan hamari jarurat notes in hindi

6. पेट्रोलियम निर्माण की प्रक्रिया को समझाइए ?

उत्तर – पेट्रोलियम का निर्माण निम्न प्रकार से होता है –
समुन्द्र में रहने वाले जिव मृत होने के कारण समुन्द्र की तली में जमा हो जाते है | वे मिट्टी तथा रेत से धक्कते चले जाते है | जिसके कारण उनका आक्सीजन से सम्पर्क समाप्त हो जाता है | उच्च ताप और दाब के कारण लाखो वर्षो में प्राणियों के मृत शरीर धीरे – धीरे पेट्रोलियम में बदल जाता है |

7. कोयला के विभिन्न उत्पादों के अभीलक्षणों एवं उपयोगो का वर्णन कीजिए ?

उत्तर – कोयला के विभिन्न उत्पाद एवं उपयोग निम्नलिखित है –

क. कोक :- कोयल को वायु की अनुपस्थिति में गरम करने पर कोक प्राप्त होता है | जो कार्बन का सबसे शुद्ध रूप होता है | इसका उपयोग इस्पात के उधोग , धातुओ के निष्कर्षण में किया जाता है |

ख. कोलतार :-कोयले से बने भूरे – कोले गाढे द्रव को कोलतार कहा जाता है | यह लगभग 200 पदार्थो का मिश्रण होता है | इसका उपयोग संश्लेषित रंग , औषधि , विस्फोटक , पेंट , छत निर्माण समाग्री और यहाँ तक की नैप्थ्लीन की गोलियाँ भी कोलतार से पारपत किया जाता है | जिसका उपयोग मांस एवं अन्य कितो को भगाने हेतु किया जाता है |

ग. कोयला गैस :- कोक बनाते समय कोयले के प्रक्रमण द्वारा कोयला गैस का निर्माण होता है | इसका उपयोग वर्तमान समय में रोशनी के अलावा उष्मा के स्रोत के रूप में किया जाता है |

8. एलपीजी और सीएनजी का ईंधन के रूप में उपयोग करने से क्या लाभ है ?

उत्तर – प्राकृतिक गैस एलपीजी एक महत्वपूर्ण जीवाश्म ईंधन है | इससे यह लाभ होता है | की इसका परिवाहन पाइपो द्वारा सरलता पूर्वक हो जाता है | एलपीजी को उच्च दाब पर संपीडित करके सीएनजी के रूप में भंडारित किया जाता है | इससे मुख्य लाभ यह है | की इसे गहरो और कारखानों में सीधा जलाया जा सकता है | और यह एक स्वच्छ ईंधन है | जिसके कारण उर्जा उत्पाद में सीएनजी का उपयोग किया जाता है |

9. सूर्य के प्रकाश एवं वायु को ईंधन के रूप में उपयोग करने से क्या लाभ है ?

उत्तर – सूर्य के प्रकाश एवं वायु को ईंधन के रूप में उपयोग करने से हमें यह लाभ है | की यह ईंधन प्राकृतिक में असीमित मात्रा में उपस्थित है | और मानवीय क्रियाकलापों से समाप्त नहीं होने वाला है |

10. भारत में तेल क्षेत्र कहाँ – कहाँ पाए जाते है ?

उत्तर – हमारे देश में तेल क्षेत्र असम में ( माहोर , कटिया , मोराम ) गुजरात में अंकलेश्वर , मुंबई हाई समुन्द्र तल में और हमारे देश में कुछ जगहों पर तेल की खोज की जा रही है |

Class 8th Science Subjective & Objective Notes
पाठ – 1दहन और ज्वाला : चीजों का जलना
पाठ – 2तड़ित ओर भूकम्प : प्रकुति के दो भयानक रूप
पाठ – 3फसल : उत्पादन एवं प्रबंधन
पाठ – 4कपड़े तरह-तरह के : रेशे तरह-तरह के
पाठ – 5बल से ज़ोर आजमाइश
पाठ – 6घर्षण के कारण
पाठ – 7सूक्ष्मजीवों का संसार : सूक्ष्मदर्शी द्वारा आँखों देखा
पाठ – 8दाब और बल का आपसी सम्बन्ध
पाठ – 9इंधन : हमारी जरुरत
पाठ – 10विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव
पाठ – 11प्रकाश का खेल
पाठ – 12पौधों और जन्तुओं का संरक्षण : जैव विविधता
पाठ – 13तारे और सूर्य का परिवार
पाठ – 14कोशिकाएँ : हर जीव की आधारभूत संरचना
पाठ – 15जन्तुओं में प्रजनन
पाठ – 16धातु एवं अधातु
पाठ – 17किशोरावस्था की ओर
पाठ – 18ध्वनियाँ तरह-तरह की
Rate this post

Leave a Comment