prakash ka pravartan | Bseb Class 10 Science प्रकाश का परावर्तन

Prakash ka Pravartan | Bseb Class 10 Science प्रकाश का परावर्तन, प्रकाश का परावर्तन तथा अपवर्तन कक्षा 10 नोट्स bihar board, प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन कक्षा 10, प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन के प्रश्न उत्तर pdf, प्रकाश का परावर्तन प्रश्न उत्तर, प्रकाश का परावर्तन notes, Prakash ka pravartan tatha apvartan, Bihar board class 10th prakash pravartan tatha apvartan, class 10th science prakash ka paravartan notes bihar board, Class 10th Science Prakash ka apvartan, bseb class 10 chapter prakash ka pravartan science subjective, Bihar Board Class 10 Science प्रकाश-परावर्तन तथा अपवर्तन, bseb 10th class science chapter 10 prakash ka pravartan notes

Bihar Board Class 10th Science Chapter 10 Prakash ka Pravartan Tatha Apvartan

पाठ – 10 : प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन

1. प्रकाश किसे कहते है ?

उत्तर – प्रकाश एक विधुत चुम्बकीय तरंग है | जो एक सीधी रेखा में गमन करती है | जिसकी सहायता से हम वस्तुओ को देखते है |

2. प्रकाश स्रोत किसे कहते है ?

उत्तर – जिस वस्तु से प्रकाश निकलता है | उसे प्रकाश स्रोत कहते है |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

3. प्रदीप्त या दीप्तमान किसे कहते है ?

उत्तर – वे वस्तुएँ जो प्रकाश स्वयं उत्सर्जित करती है | उसे प्रदीप्त या दीप्तमान कहते है |
जैसे :- सूर्य , तारे , जलती हुई मोमबती , बल्ब आदि |

4. अप्रदीप्त किसे कहते है ?

उत्तर – वे वस्तुएँ जो प्रकाश स्वयं उत्सर्जित नहीं करती है | उसे अप्रदीप्त कहते है |
जैसे :- टेबुल , कुर्सी , लकड़ी, घर

प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन के प्रश्न उत्तर pdf

5. प्रकीर्णन किसे कहते है ?

उत्तर – प्रकाश की किरण जब सूक्ष्मकणों पर पड़ती है | तो वे कण प्रकाश की उर्जा को अवशोषित कर चारो दिशाओ में विकिरित करती है | इस घटना को प्रकीर्णन कहते है |

6. प्रकाश किरण पुंज किसे कहते है ?

उत्तर – प्रकाश के किरणों के समूह को प्रकाश करण पुंज कहते है |

प्रकाश किरण पुंज कितने प्रकार से होते है –

उत्तर – प्रकाश किरण पुंज मुख्यतः तीन प्रकार के होते है,, जो इस प्रकार से है –

क. अपसारी किरण पुंज :- इस प्रकार के किरण पुंज में प्रकाश की किरने एक बिंदु स्रोत से निकलकर फैलती चली जाती है | उसे अपसारी किरण पुंज कहते है |

ख. समांतर किरण पुंज :- ऐसे किरण पुंज में प्रकाश की किरणे एक – दुसरे के समांतर होती है, यह किरण पुंज बहुत दुरी पर स्थित होती है | उसे समांतर किरण पुंज कहते है |

ग. अभिसारी किरण पुंज :- इस प्रकार के किरण पुंज में प्रकाश की किरणे एक बिंदु पर आकार मिलती है | या मिलती हुई प्रतीत होती है | उसे अभिसारी किरण पुंज कहते है |

7. पारदर्शी पदार्थ किसे कहते है ?

उत्तर – वे पदार्थ जिनसे होकर प्रकाश की किरणे आर – पार कर जाती है | उसे पारदर्शी पदार्थ कहते है |
जैसे :- कांच , पानी , हवा आदि |

8. पारभासी पदार्थ किसे कहते है ?

उत्तर – वे पदार्थ जो प्रकाश का कुछ अंश ग्रहण कर लेती है | और कुछ अंश वापस लौटा देती है | उसे हम पारभासी पदार्थ कहते है | जैसे :- दूध , रक्त , तेल , आँख की पलक आदि |

9. अपारदर्शी पदार्थ किसे कहते है ?

उत्तर – वे पदार्थ जिनसे प्रकाश आर – पार नहीं निकलती है | उसे हम अपारदर्शी पदार्थ कहते है |
जैसे :- लकड़ी , ईट , पत्थर , धातु की प्लेट आदि |

10. परावर्तन किसे कहते है ?

उत्तर – प्रकाश को किसी वस्तु से टकराकर वापस लौटने की घटना को परावर्तन कहते है |

11. प्रकाश के परावर्तन के नियम :- प्रकाश की किरण किसी साथ पर पड़कर जिन नियमो का पालन करते हुए,, उस सतह से परावर्तित होती है | उन नियमो को परावर्तन के नियम कहते है |
जैसे :- ( चित्र )
प्रकाश के परावर्तन में आपतन कोण = परावर्तन कोण
या I = R यानी जितना आपतन कोण का मान होगा उतना ही परावर्तन कोण का मान होगा | क्योकि यह दोनों बराबर होता है |

prakash ke paravartan pdf notes class 10

12. प्रकाश के परावर्तन के कितने नियम होते है ?

उत्तर – प्रकाश के परावर्तन के दो नियम होते है,, जो इस प्रकार से है –
. आपतन कोण :- सर्वदा परावर्तन कोण के बराबर होता है |
. आपतित किरण :- आपतित किरण परावर्तित किरण तथा आपतन बिंदु पर डाला गया लम्ब या अभिलम्ब तीनो एक ही समतल पर बने होते है |

13. आपतित किरण किसे कहते है ?

उत्तर – किसी सतह से पड़ने वाली किरण को आपतित किरण कहते है | और जिस बिंदु पर आपतित किरण साथ से टकराती है | उसे आपतन बिंदु कहते है |

14. परावर्तित किरण किसे कहते है ?

उत्तर – आपतित किरण जिस माध्यम से टकराकर पुनः अपनी दिशा में लौट जाती है,, उस किरण को परावर्तित किरण कहते है |

15. आपतन कोण किसे कहते है ?

उत्तर – आपतित किरण तथा आपतन बिंदु पर डाले गए अभिलम्ब के बिच के कोण को आपतन कोण कहते है |

16. परावर्तन कोण किसे कहते है ?

उत्तर – परावर्तित किरण और आपतन बिंदु पर डाले गए अभिलम्ब के बिच के कोण को परावर्तन कोण कहते है |

17. समतल दर्पण किसे कहते है ?

उत्तर – समतल दर्पण हम उस दर्पण को कहते है | जिसपर पड़ने वाली प्रकाश की किरण परावर्तन के बाद उसी पथ पर वापस लौट जाती है |

18. गोलीय दर्पण किसे कहते है ?

उत्तर – गोलीय दर्पण उस दर्पण को कहते है | जिसकी परावर्तक सतह किसी खोखले गोले की भाग होती है |

19. ध्रुव दर्पण किसे कहते है ?

उत्तर – गोलीय दर्पण के मध्य बिंदु को दर्पण का ध्रुव कहते है | इसे p से सूचित किया जाता है |

20. वक्रता केंद्र किसे कहते है ?

उत्तर – गोलीय दर्पण जिस गोले का भाग होता है,, उसके केंद्र को वक्रता केंद्र कहते है | इसे c से सूचित किया जाता है |

21. वक्रता त्रिज्या किसे कहते है ?

उत्तर – गोलीय दर्पण जिस गोले का होता है,, उसे वक्रता त्रिज्या कहते है | इसे R से सूचित किया जाता है |

22. मुख्य अक्ष किसे कहते है ?

उत्तर – गोलीय दर्पण के ध्रुव से वक्रता केंद्र को मिलाने वाली रेखा को मुख्य अक्ष कहते है |

23. अवतल दर्पण किसे कहते है ?

उत्तर – जिस दर्पण का परावर्तक सतह केंद्र की ओर झुका हो उसे अवतल दर्पण कहते है |

24. उत्तल दर्पण किसे कहते है ?

उत्तर – जिस दर्पण का परावर्तक सतह केंद्र के विपरीत झुका ही, उसे उत्तल दर्पण कहते है |

25. फोकस किसे कहते है ?

उत्तर – किसी वस्तु से चलने वाली प्रकाश की किरणे परावर्तन के बाद मुख्य अक्ष के जिस बिंदु पर मिलती है | या मिलती हुई प्रतीत होती है | उस बिंदु को फोकस कहते है |

26. द्रवारक किसे कहते है ?

उत्तर – दर्पण की चौड़ाई को हम उसका द्रवारक कहते है |

prakash ka pravartan science subjective

27. ध्रुव किसे कहते है ?

उत्तर – गोलीय दर्पण के मध्य बिंदु को दर्पण का ध्रुव कहते है |

28. आवर्धन किसे कहते है ?

उत्तर – प्रतिबिम्ब की उंचाई और वस्तु की उंचाई के अनुपात को गोलिए दर्पण का आवर्धन कहा जाता है | इसे M से सूचित करते है | जैसे :- m = प्रतिबिंब की उंचाई / वस्तु की उंचाई

29. अपसारी और समांतर और अभिसारी किरण पुंज से आप क्या समझते है ?

अपसारी :- वैसा किरण पुंज जो प्रकाशीय स्रोत से निकलकर फैलती हुई चली जाती है | उसे अपसारी किरण पुंज कहते है |

समांतर किरण पुंज :- वैसा किरण पुंज जो एक दुसरे को समांनातर होता है | उसे समानांतर किरण पुंज कहते है |

अभिसारी किरण पुंज :- वैसा किरण पुंज जिसमे प्रकाश की किरणें एक बिंदु पर आकार मिलती है | या मिलती हुई प्रतीत होती है | उसे अभिसारी किरण पुंज कहते है |

30. प्रकाश के परावर्तन के नियम को लिखे ?

उत्तर – प्रकाश के परावर्तन के डो नियम होते है –
. आपतन कोण परावर्तन कोण के बराबर होता है |
. आपतित किरण परावर्तित किरण तथा आपतन बिंदु पर खिंचा गया अभिलंब तीनो एक ही समतल में होते है |

31. समतल दर्पण में बने प्रतिबिंब की विशेषताएँ को लिखे ?

उत्तर – समतल दर्पण में बने प्रतिबिंब की निम्नलिखित विशेषताएँ है,, जो इस प्रकार से है –
. प्रतिबिंब दर्पण के पीछे बनता हा |
. प्रतिबिंब का आकार वस्तु के आकार के बराबर होता है |
. प्रतिबिंब वस्तु की अपेक्षा सीधा बनता है |
. प्रतिबिंब पार्श्विक रूप से उल्टा होता है |
. प्रतिबिंब आभासी होता है | अतः हम इसे पर्दे पर नहीं प्राप्त कर सकते |
. प्रतिबिंब दर्पण से उतना ही पीछे बनता है | जितना वस्तु दर्पण से आगे अर्थात सामने रहता है |

Bseb Class 10 Science प्रकाश परावर्तन तथा अपवर्तन

32. प्रतिबिंब से आप क्या समझते है,, यह कितनी प्रकार की होती है | परिभाषा के साथ उत्तर लिखे ?

उत्तर – किसी बिंदु स्रोत से चलने वाली प्रकाश की किरणे परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती है | या मिलती हुई प्रतीत होती है | उस बिंदु स्रोत को प्रतिबिंब कहते है |

प्रतिबिंब मुख्यः दो प्रकार के होते है –

क. वास्तविक प्रतिबिंब :- किसी प्रकाशीय स्रोत से चलने वाली प्रकाश की किरण परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर वास्तव में मिलती है | उसे उस प्रकाशीय स्रोत का वास्तविक प्रतिबिंब कहते है |

ख. कल्पनिक प्रतिबिंब :- किसी प्रकाशीय स्रोत से चलने वाली प्रकाश की किरणे परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती हुई प्रतीत होती है | उसे उस बिंदु स्रोत का आभासी प्रतिबिंब या कल्पनिक प्रतिबिंब कहते है |

33. वास्तविक प्रतिबिम्ब तथा कल्पनिक प्रतिबिम्ब में क्या अंतर है ?

उत्तर – वास्तविक प्रतिबिम्ब और कल्पनिक प्रतिबिम्ब में निम्नलिखित अंतर है, जो इस प्रकार से है –

क. वास्तविक प्रतिबिम्ब :-
1. जब किसी प्रकाशीय स्रोत से चलने वाली प्रकाश की किरणे परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती है | उस बिंदु पर वास्तविक प्रतिबिम्ब बनता है |
2. यह पर्दे पर उतारा जा सकता है |
3. इसका कटान बिंदु वास्तविक होता है |
4. इसका बना प्रतिबिम्ब हमेशा उल्टा होता है |

ख. कल्पनिक प्रतिबिम्ब :-
1. जब किसी प्रकाशीय स्रोत से चलने वाली प्रकाश की किरणे परावर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती हुई प्रतीत होती है | उसे उन बिंदु पर कलपनिक प्रतिबिम्ब बनता है |
2. यह पर्दे पर नहीं उतारा जा सकता है |
3. इसका कटान बिंदु वास्तविक नहीं होता है |
4. इसका बना प्रतिबिम्ब हमेशा सीधा होता है |

34. अवतल दर्पण और उत्तल दर्पण में अंतर स्पष्ट करे ?

उत्तर – अवतल दर्पण और उत्तल दर्पण में निम्नलिखित अंतर है,, जो इस प्रकार से है –

अवतल दर्पण
1. वैसा दर्पण जिसका प्रवर्तक सतह केंद्र की ओर हो उसे अवतल दर्पण कहते है |
2. इसका प्रतिबिम्ब पर्दे पर उतारा जा सकता है |
3. इसमें बना प्रतिबिम्ब वास्तविक होता है |
4. इसमें बना प्रतिबिम्ब सीधा होता है |

उत्तल दर्पण
1. वैसा दर्पण जिसका प्रवर्तक सतह केंद्र की विपरीत में झुका हो उसे उत्तल दर्पण कहते है |
2. इसका प्रतिबिम्ब पर्दे पर नहीं उतारा जा सकता है |
3. इसमें बना प्रतिबिम्ब कल्पनिक होता है |
4. इसका बना प्रतिबिम्ब उल्टा होता है |

35. अवतल दर्पण के उपयोगो को लिखे ?

उत्तर – अवतल दर्पण के उपयोग निम्नलिखित है,, जो इस प्रकार से है –
. इसका उपयोग हजामजाति में किया जाता है |
. इसका उपयोग डॉक्टरो द्वारा रोगी के कान , नाक , गला दांत आदि जाँच के लिए किया जाता है |
. सोलर कुकर में इसका उपयोग किया जाता है |
. वाहनों के हेड लाईट तथा टर्च में इस दर्पण का उपयोग किया जाता है |

36. उत्तल दर्पण के उपयोग वाहनों के साइड मीनार में क्यों किया जाता है ?

उत्तर – स्कूटर, मोटर कार आदि में उत्तल दर्पण का उपयोग साइड मिरर में रूप में किया जाता है,, क्योकि यह किसी वस्तु का हमेशा सीधा प्रतिबिम्ब बनाता है | तथा इसका दृष्टि कोण क्षेत्र विस्तृत होता है | जिसके कारण वाहन चलाने में चालको को आसानी होती है |

Class 10th Science Prakash ka apvartan Question Answer 2023,

37. बिना छुए समतल दर्पण , अवतल दर्पण तथा उत्तल दर्पण की पहचान आप कैसे करेंगे ?

उत्तर – बिना छुए समतल दर्पण , अवतल दर्पण तथा उत्तल दर्पण की पहचान किसी पुस्तक के छुपे हुए पृष्ट को हम उसके सामने लायेंगे | तथा उससे दूर हटायेंगे |

. यदि वस्तु का प्रतिबिम्ब सीधा हो तथा वस्तु का आकार प्रतिबिम्ब का आकार के बराबर हो तो वह समतल दर्पण होगा |

. यदि वस्तु का प्रतिबिम्ब सीधा हो तथा वस्तु की अपेक्षा प्रतिबिम्ब छोटा हो तो वह उत्तल दर्पण होगा |

. यदि वस्तु का प्रतिबिम्ब सीधा हो तथा वस्तु का आकार प्रतिबिम्ब के आकार से बड़ा हो तो वह अवतल दर्पण होगा |

38. चिन्ह परिपाटी किसे कहते है ?

उत्तर – किसी भी गोलीय दर्पण के सामने रखी हुई वस्तु के प्रतिबिम्ब का स्थान निर्धारण केवल वस्तु के स्थिति पर निर्भर नहीं करती है | बल्कि इस बात पर निर्भर करती है | की दर्पण अवतल है ‘’ या उत्तल अतः प्रतिबिम्ब के स्थान निर्धारण के लिए या दूरियों को मापने के लिए एक चिन्ह परिपाटी की आवश्यकता होती है | जिसे चिन्ह परिपाटी कहते है | इनके अनुसार दर्पण के मुख अक्ष को मध्य अक्ष माना जाता है | तथा सभी दूरियाँ दर्पण के ध्रुव से मापी जाती है | आपतित प्रकाश की सभी दूरियाँ धनात्मक होती है | तथा आपतित प्रकाश की विपरीत मापी गई सभी दूरियाँ ऋणात्मक होती है |

39. प्रकाश का अपवर्तन कसे कहते है ?

उत्तर – जब प्रकाश की किरणे किसी माध्यम से टकराती है | तब उसकी दिशा में परिवर्तन हो जाता है | जिसे प्रकाश का अपवर्तन कहते है |
आथवा :- जब कोई प्रकाश की किरणे एक माध्यम से दुसरे माध्यम में टकराती है | तब उसकी दिशा में परिवर्तन हो जाता है | जिसे प्रकाश का अपवर्तन कहते है |

40. आपतित किरण किसे कहते है ?

उत्तर – दो माध्यमो को अलग करने वाली साथ पर पड़ने वाली प्रकाश की किरण को आपतित किरण कहते है |

41. आपतन बिंदु किसे कहते है ?

उत्तर – जिस बिंदु पर आपतित किरण दिए हुए माध्यमो को अलग करने वाली सतह से टकराती है | उसे आपतन बिंदु कहते है |

prakash ka pravartan class 10th bihar board

42. अभिलम्ब किसे कहते है ?

उत्तर – किसी सतह के किसी बिंदु पर खिचे गए लांब को उस बींदु पर अभिलम्ब कहते है |

43. अपवर्तित किरण किसे कहते है ?

उत्तर – दुसरे माध्यम में मुड़कर जाती हुई प्रकाश – किरण को अपवर्तित किरण कहते है |

44. आपतन कोण किसे कहते है ?

उत्तर – आपतित किरण आपतन बिंदु पर खींचे गए अभिलम्ब से जो कोण बनती है | उसे आपतन कोण कहते है |

45. अपवर्तन कोण किसे कहते है ?

उत्तर – अपवर्तित किरण आपतन बिंदु पर खींचे गए अभिलम्ब से जो कोण बनाती है | उसे अपवर्तन कहते है |

46. पाश्र्विक विस्थापन किसे कहते है ?

उत्तर – आपतित किरण और निर्गत किरण के बिच लंबवत दुरी को पाश्र्विक विस्थापन कहते है |

47. प्रिज्म किसे कहते है ?

उत्तर – किसी कोण पर झुके दो समतल पृष्ठों के बिच घिरे किसी पारदर्शक माध्यम को प्रिज्म कहते है |

Class 10th Science Subjective Question प्रकाश का परावर्तन

48. लेंस किसे कहते है ?

उत्तर – वैसा पारदर्शक पदार्थ जो दो निश्रित ज्यामितीय सथो से घिरा रहता है | उसे लेंस कहते है |

49. लेंस कितने प्रकार के होते है ?

उत्तर – लेंस दो प्रकार के होते है –
. उत्तल लेंस
. अवतल लेंस

50. विचलन कोण किसे कहते है ?

उत्तर – किसी प्रिज्म से गुजरने के बाद अर्थात आपतित किरण तथा निर्गत किरण एक दुसरे को जिस बिंदु पर मिलते है | उनसे बना कोण को विचलन कोण कहते है |

51. उत्तल लेंस किसे कहते है ?

उत्तर – वैसा लेंस जो बिच में मोटा तथा किनारे पर पतला होता है | उसे उत्तल लेंस कहते है |

52. अवतल लेंस किसे कहते है ?

उत्तर – वैसा लेंस जो बिच में पतला तथा किनारे पर अधिक मोटा होता है | उसे अवतल लेंस कहते है |

Prakash ka Pravartan Tatha Apvartan Subjective Ncert 

53. प्रतिबिम्ब किसे कहते है ?

उत्तर – किसी प्रकाशीय स्रोत से चलने वाली प्रकाश की किरणे लेंस से अपवर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती है | या मिलती हुई प्रतीत होती है | उसे प्रतिबिम्ब कहते है |

54. आवर्धन किसे कहते है ?

उत्तर – किसी लेंस में बने प्रतिबिम्ब की उंचाई तथा बिम्ब की उंचाई के अनुपात को आवर्धन कहते है | इसे m से सूचित किया जाता है |

55. लेंस की क्षमता किसे कहते है ?

उत्तर – फ़ोक्स दुरी के व्युक्र्म को लेंस की क्षमता कहते है | इसे p से सूचित किया जाता है |

56. पानी में रखा हुआ सिक्का कुछ ऊपर उठा हुआ प्रतीत होता है ‘’ क्यों ?

उत्तर – प्रकाश के अपवर्तन के कारण पानी में रखा हुआ सिक्का कुछ ऊपर उठा हुआ प्रतीत होता है |

57. वास्तविक प्रतिबिम्ब किसे कहते है ?

उत्तर – किसी बिंदु स्रोत से आती हुई प्रकाश की किरणे अपवर्तन के बाद जिस बिंदु पर वास्तव में मिलती है | उसे उस बिंदु स्रोत का वास्तविक प्रतिबिम्ब कहते है |

58. काल्पनिक प्रतिबिम्ब किसे कहते है ?

उत्तर – किसी बिंदु स्रोत से आती हुई प्रकाश की किरणे अपवर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती हुई प्रतीत होती है | उसे उस बिंदु स्रोत का काल्पनिक प्रतिबिम्ब कहते है |

59. किसी उत्तल लेंस द्वारा जब सूर्य की किरणे को किसी कागज पर फोक्सित करते है | तो वह जल उठता है | कारण स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर – सूर्य के प्रकाश के साथ – साथ उष्मीय उर्जा भी आती है | अतः जब उत्तल लेंस द्वारा हम सूर्य से किरणे को कागज पर फोक्सित करते है | तो प्रकाश के साथ – साथ उष्मा भी कागज के छोटे – छोटे हिस्सों पर फोक्सित होती है | जिसके कारण कागज़ का वह हिस्सा जल उठता है |

Rate this post

Leave a Comment