Bseb Class 10 Economics उपभोक्ता जागरण एवं संरक्षण

upbhokta jagran evm sanrakshan question answer, Class 10 Economics Solutions Chapter 7 उपभोक्ता जागरण एवं संरक्षण, Bihar Board Class 10 Economics उपभोक्ता जागरण एवं संरक्षण, उपभोक्ता, जागरण एवं संरक्षण लघु उत्तरीय प्रश्न, Bihar board Class 10th upbhokta jagran avm sanrakshan Subjective Question, Upbhokta Jagran AVM Sanrakshan Class 10th Economics

Bihar Board Class 10th Economics Chapter 7 Upbhokta Jagran Evm Sanrakshan

पाठ : उपभोक्ता जागरण एवं संरक्षण

लघु उत्तरीय प्रश्न
1. आप किसी खाद पदार्थ संबंधी वस्तुओं को खरीदते समय कौन-कौन सी मुख्य बातों पर ध्यान रखेंगे- बिंदु बार उल्लेख करें ?

उत्तर – खाद पदार्थ की मात्रा गुण तथा उसे बनाने में प्रयोग किए गए तत्व तथा उसका प्रभाव और वजन पर ध्यान देंगे |

2. उपभोक्ता जागरण हेतु विभिनन नारो को लिखे ?

उत्तर – उपभोगता जागरण हेतु निम्नलिखित नारे इस प्रकार से है –
क. जागो ग्राहक जागो
ख. ग्राहक सावधान
ग. अपने अधिकार को पहचानो
घ. उपभोक्ता के रूप में अपने अधिकारों की रक्षा करो

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

3. कुछ ऐसे कारकों की चर्चा करें जिससे उपभोक्ताओं का शोषण होता है ?

उत्तर – उपभोक्ताओं का शोषण होने के निम्नलिखित कारण है’ जो इस प्रकार से है –
क. मिलावट की समस्या
ख. ऊंची कीमत द्वारा
ग. डुप्लीकेट वस्तुएं
घ. कम माप तोल
ड. कम गुणवत्ता वाली वस्तुएं

उपभोक्ता जागरण एवं संरक्षण 10th bihar board economics

4. उपभोगता के रूप में बाजार में उनके कुछ कर्तव्यों का वर्णन करें ?

उत्तर – उपभोक्ता के रूप में हमारी कुछ निम्न कर्तव्य है’ जो इस प्रकार से है –
क. जिस वस्तु को हम खरीदते हैं ! उसका रसीद ले लेना चाहिए
ख. वस्तु की गून मात्रा शुद्धता और माप तोल पर ध्यान देना चाहिए
ग. निर्माण की तिथि तथा समाप्ति की तिथि पर भी ध्यान देना चाहिए
घ. वस्तु लेते समय आई एस आई तथा हॉल मार्क का ध्यान देना चाहिए

5. उपभोक्ता कौन है संक्षिप्त में बताइए ?

उत्तर – उपभोक्ता बाजार व्यवस्था का सबसे महत्वपूर्ण अंग है ! किसी वस्तु के ग्राहक जो उस वस्तुओं एवं सेवाओं को अपने प्रयोग के लिए खरीदते हैं ! उपभोक्ता उपयोग करते हैं ! उसे हम उपभोगता कहते हैं |


दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
6. उपभोक्ता के कौन-कौन अधिकार है’ प्रत्येक अधिकार को सोदाहरण लिखे ?

उत्तर – उपभोक्ता के निम्नलिखित 6 अधिकार दिए गए है –

क. सुरक्षा का अधिकार :- उपभोक्ता को ऐसी वस्तुओं और सेवाओं से सुरक्षा का अधिकार प्राप्त है ! जिनसे उनके शरीर संपत्ति को हानि पहुंचती है |

ख. उपभोक्ता को शिक्षा का अधिकार :- उपभोक्ता को एक सजग उपभोक्ता बने रहने हेतु शिक्षा पाने का किसी भी उपभोक्ता को अधिकार है |

ग. छाती पूर्ति का अधिकार :- उपभोक्ता को अधिकार लोगों को आश्वासन प्रदान करता है ! कि खरीदी गई वस्तु सेवा उचित ढंग की अगर नहीं निकली तो उन्हें मुआवजा दिया जाएगा |

घ. सुनवाई का अधिकार :- उपभोक्ता को अपने हितों की प्रभावित करने वाली सभी बातों को उपर्युक्त मंचों के समक्ष प्रस्तुत करने का अधिकार है |

ङ सूचना पाने का अधिकार :- उपभोक्ता को वे सभी आवश्यक सूचनाएं भी प्राप्त करने का अधिकार है ! जिसके आधार पर वे वस्तुएं सेवाएं खरीदने का निर्णय कर सकते हैं |
जैसे :- पॉकेट बंद समान खरीदने पर उसका मूल्य इस्तेमाल करने की अवधि गुणवत्ता इत्यादि |

च.  चुनाव पसंद करने का अधिकार :- उपभोक्ता अपने अधिकार के अंतर्गत किसी भी वस्तु का चुनाव कर सकता है |

upbhokta jagran evm sanrakshan question answer

7. उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 की मुख्य विशेषताओ को लिखे ?

उत्तर – उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 एक महत्वपूर्ण अधिनियम है ! जिसमे उपभोक्ताओं को बाजार में बेचीं जाने वाली वस्तुओ के संबंध में संरक्षण का अधिकार दिया गया है ! उपभोकता संरक्षण अधिनियम के बारे में सभी वस्तुओ सेवाओं तथा व्यक्तिओ चाहे वे निजी क्षेत्र के हो या सार्वजनिक क्षेत्र उसको शामिल किया जाता है ! इसके तहत उपभोक्ता को यह जानने का अधिकार प्राप्त है ! की वह वस्तु या सेवा की गुणवता परिमाण क्षमता शुद्धता मानक और मानक और मूल्य के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके |

8. उपभोक्ता संरक्षण हेतु सरकार द्वारा गठित न्यायिक प्रणाली त्रिस्तरीय प्रणाली को विस्तार से समझाए ?

उत्तर – उपभोक्ता संरक्षण के द्वारा उपभोक्ताओं के शिकायतों के निवारण के लिए त्रिस्तरीय प्रणाली की जो व्यवस्था की गई है ! वह इस प्रकार से है –

क. जिला आयोग :- सबसे पहले उपभोक्ता अपनी शिकायत को जिला आयोग में करता है ! इसमें समय एवं धन की बचत होती है |

ख. राज्य आयोग :- अगर शिकायतकर्ता जिला आयोग के न्याय से संतुष्ट नहीं है ! तो मामले को राज्य आयोग में पहुंचा सकता है |

ग. राष्ट्रीय आयोग :- अगर शिकायतकर्ता इससे भी संतुष्ट नहीं है ! तो अपने शिकायत को राष्ट्रीय आयोग में ले जा सकता है | यदि उपभोक्ता राष्ट्रीय आयोग के निर्णय से भी संतुष्ट नहीं होता है ! तो वह आदेश पारित होने के 30 दिन के अन्दर उच्चतम न्यायालय में अपील कर सकता है |

9. मानव अधिकार अधिकार के महत्व पर प्रकाश डालें ?

उत्तर – हमारे देश में राष्ट्रीय स्तर पर एक उच्चतम संस्था है ! जो मानवीय अधिकारों की रक्षा और उनके अधिकार से संबंधित उनके हितों के लिए सुरक्षा प्रदान करती है ! वैसी संस्था को ही राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग कहते हैं ! राष्ट्रीय मानव अधिकार का महत्व इस बात से बढ़ जाता है ! कि इसके अध्यक्ष भारत के उच्चतम न्यायालय के अवकाश प्राप्त प्रधान न्यायाधीश होते हैं ! यदि कहीं किसी के अधिकार का हनन होता है ! तो प्रभावित व्यक्ति मानव अधिकार आयोग में अपनी शोषण के विरुद्ध आवेदन कर सकता है ! आवेदन को एवं सुनवाई का तौर तरीका आम अदालत की तरह है |

upbhokta jagran evm sanrakshan notes in hindi

10. उपभोक्ता के कर्तव्य के बारे में लिखें ?

उत्तर – उपभोक्ता जब कोई वस्तु खरीदता है ! तो यह आवश्यक है ! कि उस वस्तु का रसीद अवश्य ले एवं वस्तु की गुणवत्ता ब्रांड मात्रा शुद्धता मानक माप तोल उत्पादित निर्माण की तिथि उपभोक्ता की अंतिम तिथि गारंटी पेपर गुणवाता का निशान जैसे आई एस आई मार्क हॉल मार्क और मूल की दृष्टि से किसी प्रकार के दोष और अपूर्णता पाता है ! तो सेवा लेते समय अतिरिक्त सतर्कता एवं जागरूकता रखें |

11. आर्थिक सुधारों या नई आर्थिक नीति की तीन विशेषताएं लिखें ?

उत्तर – आर्थिक सुधारों एवं नई आर्थिक नीति की तीन विशेषताएं निम्नलिखित है’ जो इस प्रकार से है
क. उत्पादन इकाइयों की प्रतियोगी क्षमता को बढ़ाना
ख. भूतकाल की तुलना में विदेशी विनियोग एवं तकनीकी का अधिकाधिक उपयोग करना
ग. आर्थिक विकास के लिए वैश्विक संसाधनों का उपयोग

12. समावेशी विकास से आप क्या समझते है ?

उत्तर – विकास का सीधा संबंध राष्ट्रीय आय से है ! राष्ट्रीय आय का आधार प्रति-व्यक्ति आय है ! प्रति-व्यक्ति आय में यदि वृद्धि होती है ! तो राष्ट्रीय आय बढ़ जाती है ! और विकास संभव हो पाता है ! देश के विकास के लिए अधिकाँश योजनाएं व्यक्ति के विकास से जुडी होती है ! यह इस प्रकार समझा जा सकता है ! की जैसे – जैसे उत्पादन में वृद्धि लानी होगी वैसे – वैसे लोगो के लिए अधिकतम रोजगार की व्यवस्था करनी होगी लोगो को रोजगार मिलेगा श्रमिक का वेतन बढ़ेगा उनकी आय बढ़ेगा इस प्रकार विकास सीधे तौर पर व्यक्तिगत आय से जुड़ जाता है ! अतः प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि होने से व्यक्तिओ का विकास होने लग जाएगा ऐसी स्थिति में समावेशी विकास का मार्ग प्रशस्त होगा |

13. ऐसे कारको की चर्चा करे जिससे उपभोक्ता का शोषण होता है ?

उत्तर – एक उपभोक्ता के रूप में बाजार से वस्तुओ को खरीदने के पूर्व निम्नलिखित तथ्य को ध्यान में रखना चाहिए |
क. वस्तुओ की खरोद पर पक्की रसीद प्राप्त करनी चाहिए |
ख. वस्तुओ की गुणवता , ब्रांड आदि का ध्यान रखना चाहिए |

Leave a Comment

error: Content is protected !!