Bharat me angreji raajy ki sthapna | भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना

bihar board class 8 history solution भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना कब हुई, storyofluck, Bihar Board Class 8 Social Science भारत में अंग्रेजी राज्य की  स्थापना, bharat me angreji rajy ki sthapna question answer, bihar board class 8th histroy chapter 2 bharat me angrejee raajy ki sthaapna notes in hindi

Bihar Board Class 8th History Chapter 2 bharat me angreji raajy ki sthapna – भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना 

पाठ – 2 भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना

1. रिक्त स्थानों को भरे

क. भारत और यूरोप के बिच स्थल मार्ग से होने वाले व्यापार में ( फारस के व्यापारियों ) की महत्वपूर्ण भूमिका थी |

ख. कम्पनी द्वारा ख़रीदा गया माल ( फैक्ट्री ) में रखा जाता है |

ग. एक के बाद एक कई लड़ाइयो में मराठो को ( कमजोर ) कर दिया |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

घ. ( हैदराबाद ) अंग्रेजो के साथ सबसे पहले आर्थिक संधि को स्वीकरा किया |

ङ. ( अंग्रेजो ) ने विलय निति का अनुसरण किया |

Bseb Class 8 Histroy भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना 

2. सही और गलत बताइए :

क. यूरोप के व्यापारी भारत में अपना माल बेचने और बदले में यहाँ से सोना चाँदी लेने आए थे | ( गलत )

ख. ईस्ट इण्डिया कम्पनी को भारत में व्यापार करने का एकाधिकार मिल गया | ( सही )

ग. भारतीय राज्य एकता के आभाव में एक – एक कर अंग्रेजी शासन के अधीन होते चले गए | ( सही )

घ. कर मुक्त व्यापार से बंगाल के राजश्व का काफी नुक्सान हो रहा था | ( सही )

ङ. कम्पनी की सेना की जित हुई, क्योकि उनके पास भारतीय सेनाओं से बेहतर तोप और बंदूक थी | ( सही )

3. यूरोप की व्यापारिक कम्पनियों ने क्यों भारत के राजनितिक मामलो में हस्तक्षेप करना शुरू किया ?

उत्तर – यूरोप की व्यापारिक कम्पनियों ने भारत के राजनितिक मामलो में इसलिए हस्तक्षेप करना शुरू किया | क्योकि वे भारतीय राजाओ की कमजोरी को भाप गए थे | वे यहाँ व्यापार का विस्तार चाहते हुए अपना शासन भी स्थापित करना चाहते थे | इसलिए उन्होंने भारतीय राजनितिक मामलो में अपना हस्तक्षेप करना शुरू किया था |

bihar board class 8 history भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना notes in hindi

4. अंग्रेज बंगाल पर क्यों अधिकार करना चाहते थे ?

उत्तर – अंग्रेज बंगाल पर इसलिए अधिकार करना चाहते थे | की वे वहां की दीवानी पर अधिकार जमा सके | उनकी सोच दूरगामी थी | वे किसी प्रकार दिल्ली तक पहुंचना चाहते थे |

5. क्यों और किन परिस्थितियों में भारतीय शासको ने सहायक संधि की शर्तो को स्वीकार किया ?

उत्तर – भारतीय शासको में एकता नहीं थी | इस कारण अलग – अलग वे अपने को अंग्रेजो से कमजोर समझते थे | उनसे युद्ध करने से वे डरते थे | मुगलों की अधीनता में रहते – रहते वे आराम तलब और एय्याश हो गए थे |

bharat me angreji raajy ki sthapna notes

6. प्लासी और बक्सर के युद्धों में आप किसे निर्णायक मानते है’’ और क्यों ?

उत्तर – प्लासी और बक्सर के युद्धों में मै बक्सर के युद्ध को निर्णायक मानता हूँ | कारण की प्लासी के युद्ध में केवल बंगाल का नबाव हारा था | उससे केवल अंग्रेज वहां नबाव बन सकते थे | किन्तु बक्सर के युद्ध में उन्होंने एक साथ तिन शक्तियों को हराया था | मुग़ल सम्राट को अंग्रेजो से संधि करनी पड़ी और बंगाल बिहार और उडीस के सूबे उन्हें सौपने पड़े | बंगाल में पैर जमाने के बाद ही ये भारत के अन्य क्षेत्रो की ओर बढ़ सके | अवध भी उनके कब्जे में आ गया |

Leave a Comment

error: Content is protected !!