Bachche ki dua notes । Bseb Class 10 Non Hindi बच्चे की दुआ

bachche ki dua notes, Bseb Class 10 Non Hindi बच्चे की दुआ, Bihar Board Class 10 non Hindi बच्चे की दुआ Text Book Questions and Answers, Bihar Board Class 10 non Hindi Solutions Chapter 8 बच्चे की दुआ, class 8th hindi bachho ki duaa notes bihar board, bachche ki duaa question answer in hindi

Bihar Board Class 10th Non-Hindi Chapter 8 bachche ki dua – बच्चे की दुआ Notes

पाठ – 8
शीर्षक – बच्चे की दुआ
लेखक – मो. इकबाल

1. आपको यदि अल्लाह या इश्वर से कुछ मागना हो तो आप क्या – क्या मागेंगे ?

उत्तर – हमें यदि अल्लाह या इश्वर से कुछ मागने की जरूरत होगी,, तो मै इश्वर से एक सच्चा मानव बनने की अभिलाषा प्रकट करूंगा | इमानदार सत्यवादी कर्मठ चरित्रवान परोपकारी त्यागी और देश प्रेमी होता है,, तथा दुसरे के सुख दुःख में हाथ बटाने वाला होता है,, इसलिए मै एक सच्चा मानव बनने की प्रार्थना इश्वर से करूंगा | ताकि जीवन धारण करने का उद्देश्य सफल हो सके |

2. कविता में संसार को बेहतर बनाने की कामना मुर्वर हुई है,, उन कामनाओं को अपने शब्दों में लिखिए ?

उत्तर – कोई भी देश तभी सोभा पाता है,, जब उस देश का नागरिक अपने देश के विकाश में हमेशा जुटा रहता है,, अगर व्यक्ति मेहनत करे और अपना कर्म करे तथा वह देश प्रेमी बने तो वह अपने मेहनत के बल पर सही समाज निर्माण करेगा | तभी देश का विकाश होगा,, अतः कविता में एक नेक इंसान का जो गुण होता है,, उन्ही गुणों की प्राप्ति की कामना की गई है,, ताकि एक नै समाज की स्थापना हो सके | अगर एक नै समाज की स्थापना होगी तभी संसार को बेहतर बनाया जा सकता है |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

Bseb Class 10 Non Hindi बच्चे की दुआ

3. अल्लाह बुराई से बचाना मुझको तथा नेक राह में चलाने की शक्ति प्रदान करना नज्म के किन पंक्तियों से ऐसा भाव स्पष्ट किया गाय है,, नज्म की उन पंक्तियों को लिखे ?

उत्तर – मेरे अल्लाह बुराई से बचाना मुझको नेक जो राह हो उसी पे चलाना मुझको। Jawan

4. आपके घर में या पडोस में बुजुर्ग होंगे,, आप उनकी देखभाल कैसे करना चाहेंगे ?

उत्तर – मै अपने घर में या पडोस की बुजुर्ग का देखभाल एक सदस्य के सामान करूंगा | उनकी हर जरुरतो को ध्यान में रखूंगा,, उनसे प्रेम पूर्वक बात करूंगा,, उनकी हर समस्या को अपनी समस्या मानकर हल करने का प्रयास करुँगा |

5. अल्लाह और इश्वर में कोई फर्क नहीं है,, इस बात से आप कहाँ तक सहमत है,, स्पष्ट करे ?

उत्तर – अल्लाह और इश्वर एक ही है,, दोनों इश्वर का नाम है,, अल्लाह का अर्थ होता है,, जो किसी के प्रेम पुकार या आंतरिक पुकार पर प्रकट हो,, किन्तु खुदा स्वयं पहुंचकर दुस्टो का संघार करते है,, तथा धर्म की स्थापना करते है,, इसी तरह इश्वर भी जब धरती पर आतंक हो जाता है,, तो दुष्टों का नाश करते है,, और संसार में शांति स्थापना करते है,, इससे स्पष्ट होता है,, की इश्वर और अल्लाह एक ही है | अतः मै इस बात से पूर्ण रूप से सहमत हूँ |

Bachche ki dua notes – बच्चे की दुआ नोट्स इन हिंदी 

6. व्याख्या कीजिए :

क. जिन्दगी हो मेरी परवाने की सुरत या रब इल्म की शमअ से हो मुझको मोहब्बत या रब ||

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी पाठ्य पुस्तक हिंदी पाठ के बच्चे की दुआ शीर्षक से लिया गया है ! जिसके लेखक मो. इकबाल जी है ! कवी इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है ! की बच्चे भगवान से यह प्रार्थना करते है,, की उनका जीवन सदा अच्छे कर्मो के प्रति समर्पित हो ! क्योकि अच्छे कर्मो से ही इश्वर की प्राप्ति होती है ! कवी ये भी बताना चाहते है ! की बच्चो का मन सदा कल्याणकारी विचारों में डूबा रहना चाहिए | जिससे मानव अपने मानवता के बल पर इश्वर के सामान पूज्य हो जाता है |

Bachhe Ki Dua Class 10 Non Hindi

ख. हो मेरे हम से युही मेरे वतन की जीनत जिस तरह फुल से होती है,, चमन की जीनत ||

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी पाठ्य पुस्तक हिंदी पाठ के बच्चे की दुआ शीर्षक से लिया गया है ! जिसके लेखक मो. इकबाल जी है ! कवी इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है ! की बच्चे को भगवान से ऐसे भक्ति या गुण का प्रार्थना करना चाहिए ! जिससे जन्म भूमि का गौरव बढ़ सके ! अर्थात जिस प्रकार खिले फुल से फुलवारी की शोभा बढ़ जाति है ! यानी फुलवारी की सुन्दरता के कारण आकर्षण का केंद्र बन जाता है ! उसी प्रकार हमारे सदा प्रयास तथा त्याग से हमारी जन्म भूमि गौरव हो जाए | 

बच्चे की दुआ प्रश्न उत्तर 

ग. मेरे अल्लाह बुराई से बचाना मुझको नेक जो राह है ! उस राह पे चलाना मुझको ||

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी पाठ्य पुस्तक हिंदी पाठ के बच्चे की दुआ शीर्षक से लिया गया है ! जिसके लेखक मो. इकबाल जी है ! कवी इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है ! की बच्चे भगवान से यह प्रार्थना करते है ! की इश्वर मुझे बुराई से बचाना नेक जोराह है,, उस राह पर चलाना जिससे मै अच्छे रास्ते पर चलकर नेक इंसान बन सकूँ |

S.N Class 10th Non Hindi Subjective Notes
पाठ – 2 ईदगाह
पाठ – 3 कर्मवीर
पाठ – 4 बलगोबिन भगत
पाठ – 5 हुंडरू का जल प्रताप
पाठ – 6 बिहारी के दोहे
पाठ – 7 ठेस
पाठ – 8 बच्चे की दुआ
पाठ – 9 अशोक का शस्त्र त्याग
पाठ – 10 इर्ष्या तू न गई मेरे मन से
पाठ – 11 कबीर के पद
पाठ – 12 विक्रमशिला
पाठ – 13 दीदी की डायरी
पाठ – 14 पीपल
पाठ – 15 दीनबंधु निराला
Rate this post

Leave a Comment