aml kshar evm lavan notes | Bseb Class 7 Science अम्ल क्षार एवं लवण

aml kshar evm lavan notes, Bseb Class 7 Science अम्ल क्षार एवं लवण, अम्ल क्षार एवं लवण प्रश्न उत्तर, bihar board class 7 science solutions, Bihar Board Class 7 Science अम्ल, क्षार एवं लवण, Bihar Board Class 7 Science Solutions Chapter 12 अम्ल, क्षार एवं लवण, bihar board class 7 science aml kshar evm lvan

Bihar Board Class 7th Science Chapter 12 aml kshar evm lavan – अम्ल क्षार एवं लवण

CHAPTER – 12 अम्ल क्षार एवं लवण

1. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए ;

. अम्ल नील लिटमस पत्र को ( लाल ) कर देता है |

. अम्ल का स्वाद ( खट्टा तीखा ) और क्षार का स्वाद ( नमकीन ) होता है |

Movies & Update WhatsApp Join Now

Study Notes & Pdf WhatsApp Join Now

. उदासीनीकरण अभिक्रिया में ( लवण ) और ( जल ) बनते है |

. हल्दी पत्र का खड़िया पाउडर घोल डालने से इसका रंग ( लाल ) हो जाता है |

. नीला थोथा ( कॉपर सल्फेट ) एक ( अभिक्रिया कारक ) है |

aml kshaar evam lavan class 7th science

2. मिलान कीजिए :

. फिनाल्फ्थालिन – सूचक

. अंगूर – तार्तरिक अम्ल

. कली चुना – क्षार

. लाल चींटी – फोर्मिक अम्ल

. वाटर कलर – उदासीन

अम्ल क्षार एवं लवण नोट्स इन हिंदी 

3. अम्लो और क्षरको के बिच अंतर बताइए :

उत्तर – अम्लो और क्षरको के बिच निम्नलिखित अंतर है –

. अम्ल नीले लिटमस पत्र को लाल कर देता है | जबकि क्षारक लाल लिटमस पत्र को नीला कर देता है |

. अम्ल खाने में खट्टा होता है | जबकि क्षारक नमकीन सह कडवा होता है |

. अम्ल बहुत से पदार्थो को घुला लेने की क्षमता रखता है | जबकि क्षारक तेल एवं गंधक को नहीं घुला सकता |

bseb class 7 science aml kshar evm lavan notes in hindi

4. एक प्रयोग शाला में शिक्षक ने अम्ल और क्षार के 1.1 लीटर विलयन ( घोल ) बनाकर रखे | अम्ल के विलयन की दस बूंदों से क्षार की दस बूंदों का उदासीनीकरण होता था | गंलती से दोनों में से एक विलयन में पानी गिर गया | जब फिर से उदासिनीकरण किया गया तो अम्ल की 10 बूंदों के लिए क्षार की 15 बुँदे लगी | बतावे की पानी किस घोल में गिर गया था | और कितना पानी गिरा होगा

उत्तर – क्षार के विलयन में गिरा था | गिरे हुए पानी की मात्रा 50% थी | अर्थात जितना विलयन था | उसके आधा पानी उसमे गिर गया था |

5. ऐसा क्यों होता है ?

क. जब आप अतिअम्लता से पीड़ित होते है’’ तो प्रति अम्ल की गोली लेते है ?

उत्तर – अति अम्लता को दूर करने के लिए प्रति अम्ल की गोली इसलिए ली जाती है | क्योकि इससे अति अम्ल उदासीन हो जाती है | और व्यक्ति को आराम पहुंचता है |

ख. जब चींटीकाटती है’’ तो त्वचा पर कैलेमाइन का विलयन लगाया जाता है ?

उत्तर – जब चींटी काटती है’ तो त्वचा में अम्लीय द्रव फॉर्मिक अम्ल चला जाता है ! इससे त्वचा में जलन होती है ! और व्यक्ति पीड़ा महसूस करता है ! उसे आराम पहुचाने के लिए चींटी के काटने के स्थान पर कैलेमाइन का विलयन लगाया जाता है ! जिससे फोर्मिल अम्ल उदासीन हो जाए | और व्यक्ति पिरामुक्त हो जाए |

ग. कारखाने के अपशिष्ट को नदियों में बहाने से पहले उसे उदासीन किया जाता है’’ क्यों ?

उत्तर – कारखाने के अपशिष्ट को नदियों में बहाने के पहले उसे उदासीन इसलिए कर दिया जाता है ! ताकि नहीं जा; विषैला या गन्दा नहीं होने पाए ! जलीय – जिव मरे नहीं और नदी जल पिने योग्य बना रहे |

घ. ताजमल की सुन्दरता नष्ट होते जा रही है’’ क्यों ?

उत्तर – ताजमल की सुन्दरता इसलिए नष्ट होती जा रही है ! क्योकि अम्लीय वर्षा उसे साल दर साल उसके रंग को मद्दिम करते जा रहा है ! पृथ्वी पर कारखानों से निकले आँक्सीजन , सल्फर डाईआक्साइड और नाइट्रोजन डाईआक्साइड जैसे – जैसे वायुमंडल के माध्यम से वर्षा जल में मिलते जाते है ! वैसे – वैसे कार्बनिक अम्ल सल्फ्यूरिक अम्ल और नाइट्रिक अम्ल बनता जाता है ! ऐसी ही अम्ल वर्षा के कारण ताजमहल की सुन्दरता कम होता जा रहा है  |

6. उदासिनीकरण के प्रक्रम को एक उदाहरण देते हुए समझाइए ?

उत्तर – अम्ल और क्षार के बिच होने वाली अभिक्रिया को उदासिनीकरण कहा जाता है | इस अभिक्रिया में उष्मा के निर्मुक्त होने के साथ ही लवण और जल निर्मित होते है |

7. तिन बोतलों में अम्ल क्षार और उदासीन विलयन दिए गए है | परन्तु इन बोतलों पर विलयन का नाम नहीं लिखा गया है | हल्दी पत्र द्वारा विलयन की पहचान कैसे करेंगे ?

उत्तर – जिस बोतल में हल्दी पत्र डालने पर पत्र लाल हो जाए तो समझेंगे की इस बोतल में क्षार विलयन है ! जिस बोतल में हल्दी पत्र डालने पर नीला हो जाए तो समझेंगे की इस बोतल में अम्लीय विलयन है ! जिस बोतल में हल्दी पत्र का थथाव्त रहता है ! तो समझेंगे की इस बोतल में उदासीन विलयन है |

8. क्या आसुत जल अम्लीय | क्षारकीय उदासीन होता है’’ आप इसकी पुष्टि कैसे करेंगे ?

उत्तर – आसुत जल उदासीन होता है’’ इसकी पुष्टि के लिए इसमें हम लिटमस पत्र को डालेंगे ! तो इसके रंग में कोई परिवर्तन नही होगा |

9. नीले लिटमस पत्र को एक विलयन में डुबोया गया | यह नीला ही रहता है | विलयन की प्रकृति क्या ई | समझाइये ?

उत्तर – नीले लिटमस पत्र को विलयन में डुबोने पर वह अपना रंग नहीं बदलता है ! अर्थात नीला ही रहता है | इससे स्पष्ट होता है | की यह कथन सत्य है |

Leave a Comment

error: Content is protected !!