Sarju Bhaiya Questin Answer | Bseb Class 6 Hindi (kislay) सरजू भैया

sarju bhaiya class 6 notes, ncert 6th class chapter 11 sarju bhaiya question answer, BSEB Class 6 Hindi Kislay Chapter 11 सरजू भैया, BSEB Class 6th Hindi Solutions Chapter 11 सरजू भैया, Bihar Board Class 6 Hindi सरजू भैया BSEB

Bihar Board Class 6th Hindi Chapter 11 Sarju Bhaiya – सरजू भैया क्वेश्चन आंसर

Chapter – 11 : सरजू भैया नोट्स इन हिंदी

1. सरजू भैया को जिन्दादिल क्यों कहा गया है ?

उत्तर – सरजू भैया को ज़िंदा दिल व्यक्ति इसलिए कहाँ जाता था। क्योकि वह भले ही देखने में दुबले – पतले तथा गरीब व्यक्ति थे ! लेकिन वह हमेशा समाज के मिलकर रहना पसंद करते थे। और मजाकिया और दयालु भी थे ! वह हमेशा समाजिक कल्याण के लिए सदैव तैयार रहने वाले व्यक्ति थे ! जिसके कारण लोग सरजू भैया को ज़िंदा-दिल व्यक्ति कहते थे। mission raniganj

2. लेन-देन के व्यवसाय में सरजू भैया क्यों सफल नहीं हो सकते थे ?

उत्तर – सरजू भैया लेन देन के व्यवसाय में इसलिए सफल नहीं हो सकते थे। क्योकि सरजू भैया एक समाजकारी व्यक्ति के साथ – साथ वह बहुत दयालु भी थे। सरजू भैया किसी को भी दुखी नहीं देख सकते थे। जिसके कारण कर्जदार से अगर सरजू भैया अपना कर्ज मांगते तो कर्जदार व्यक्ति अपनी मजबूर सरजू भैया को सुनाने लगता और रोने लगता जिसके कारण सरजू भैया को उसपर दया आ जाता और वह अपना कर्ज को माफ़ भी कर देते तो ऐसा समाजकारी और दयालु व्यक्ति कभी भी लेन देन के व्यवसाय में सफल नहीं हो सकता है। Thalapathy 67

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

सरजू भैया का चरित्र चित्रण Class 6

3. चतुर, फुर्तीले और काम-काजू आदमी होते हुए भी सरजू भैया सुखी-संपन्न क्यों नहीं रह सके ?

उत्तर – चतुर, फुर्तीले और काम-काजू आदमी होते हुए भी सरजू भैया सुखी-संपन्न इसलिए नहीं रह सके। क्योकि सरजू भैया एक समाजकारी और दयालु व्यक्ति थे। जो हर दिन किसी ना किसी दुसरे व्यक्ति के समस्या का समाधान करने में लगे ही रहते थे। जिसके चलते सरजू भैया को अपने घर की फिकर ही नहीं रहती थी। अगर व्यक्ति को किसी दुसरे व्यक्ति के समस्या के समाधान करने से व्यक्त मिलेगा। तभी ना वह अपना घर संसार के बारे में सोचेगा। और अपने जीवन को सुखी सम्पन्न करेगा। जोकि सरजू भैया को गाँव वाले के समस्या के समाधान करते करते वह अपना घर गिरस्ती को भले गए थे। इसलिए सरजू भैया चतुर, फुर्तीले और काम-काजू आदमी होते हुए भी सुखी संपन्न नहीं रह सके। LEO

4. सरजू भैया ने सादे कागज पर अंगूठे का निशान क्यों बनाया ? Ganapath

उत्तर – सादे कागज पर अंगूठे का निशान सरजू भैया ने इसलिए बना दिया। क्योंकि वे रुपया गाँठ में बाँध चुके थे। वे महाजन के व्यवहार से आश्चर्यचकित हो गए थे। जो महाजन कभी सरजू भैया से रुपया लेते थे। लेकिन जब आज सरजू भैया को रुपये की जरूरत पड़ी है। तो सूदखोर महाजन ने अंगूठे का निशान लगाने को कहा। सीधे सादे सरजू भैया निशान लगा दिये। यही कारण है की सरजू भैया को सादे कागज़ पर अंगूठे का निशाँन बनाना पड़ा। Tiger Nageswara Rao

Bseb Class 6 Hindi Sarju Bhaiya Notes In Hindi

5. अपनी शादी की बात सुनकर सरजू भैया ठठाकर क्यों हँस पड़ेसही उत्तर में (✓) चिह्न लगाइए ?
  1. यह समझकर कि लोग उनसे हँसी कर रहे हैं (गलत)
  2. सरजू भैया स्वयं हँसी कर रहे थे (गलत)
  3. दूसरी शादी की संभावना पर वह बहुत प्रसन्न हो उठे थे (गलत)
  4. वह हँस कर बात टालना चाहते थे (सही)

Ncert 6th Class Hindi Sarju Bhaiya Question Answer

6. सरजू भैया के दिनचर्या से आप कहाँ तक सहमत हैं ?

उत्तर – सरजू भैया के दिनचर्या से हम बिल्कुल सहमत नहीं हैं। क्योकि उनका कोई दिनचर्या ही नहीं था। वह दिन रात जो दूसरे के काम काज में वयस्त रहकर स्वयं को सुखा ले तथा अपनी सम्पत्ति का भी हानि पहुँचा दें। ऐसे व्यक्ति की दिनचर्या से कभी भी कोई व्यक्ति सहमत नहीं हो सकता है। क्योकि सरजू भैया परोपकार के चक्कर में अपना जीवन जीना ही भूल गए थे। तथा दिन प्रति दिन उनके सेहत में गिरावट आ रही थी। और धन का भी हानि हो रहा था।Chandramukhi 2

इसे भी पढ़े ⇓

Leave a Comment

error: Content is protected !!