Bahadur question answer । Bseb Class 10 Hindi बहादुर Subjective

bahadur question answer in hindi, Bseb Class 10 Hindi बहादुर Subjective, bahadur Question Answer 2022, बहादुर कहानी का प्रश्न उत्तर, Bahadur (बहादुर) Class 10 Subjective Question Answer, Class 10th Hindi bahadur Subjective Question Paper 2023, Bihar board Hindi Chapter 6 Bahadur Subjective question answer, Bihar Board Class 10 Hindi बहादुर, Bihar Board Class 10 Hindi bahadur notes, Bihar Board Class 10 Hindi गध Chapter 6 बहादुर, Subjective Class 10th Hindi Bahadur, bahadur class 10th hindi bihar board

Bihar Board Class 10th Hindi Chapter 6 Bahadur –  बहादुर

पाठ – 6
शीर्षक – बहादुर
लेखक – अमरकांत
जन्म – जुलाई 1925 में नगर बलिया उत्तर प्रदेश

लेखक परिचय :- बहादुर पाठ के लेखक अमरकांत जी है | इनका जन्म जुलाई 1925 में उत्तर प्रदेश के नागर बलिया में हुआ था | अखिल भारतीय कहानी प्रतियोगिता में इनकी कहानी डिप्टी कलेक्ट्री के पुरस्कार मिला था |

इनकी प्रमुख रचनाएँ – जिन्दगी और जोक, देश के लोग , मौत का नगर, मित्र – मिलन , कुहासा आदि |

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Facebook Group Join Now

उपन्यास :- सुखा पत्ती, आकाशपक्षी , काले उजले दिन, ग्राम सेविका , बिच कि दीवार आदि वानर सेना एक बाल उपन्यास भी लिखी है |

महत्वपूर्ण बिंदु

  • बहादुर ने भैंस को बहुत पिटा था |
  • बहादुर का पूरा नाम दिल बहादुर था |
  • जिसकी कल्पना कर माने बहादुर को दुगना पिटा था |
  • बहादुर घर से 2 रुपया लेकर भाग गया था |
  • बहादुर के पिता युद्ध में मारे गए थे |
  • बहादुर की उम्र ( 11 – 12 ) वर्ष की थी |
  • मुंह चपटा ,रंग गोरा ,हाफ पेंट ,हाफ शर्ट गले में स्काउट गाइड की रुमाल और रक फटा हुआ जूता पहना था |
  • लेखक के घर पर लेखक का बेटा किशोर ने उसे पहली बार मारा |
  • मार खाकर वह चुपचाप कोने में बैठ गया था |
  • रोटी न बनाने पर निर्मला ( लेखक की पत्नी ) ने उसे मारा |
  • रिश्तेदारों ने बहादुर पर 11 रुपया चारी का इल्जाम लगाया |
  • बहादुर से शिलपट्टा टूटने पर वह लेखक का घर छोड़ कर भाग गया |
  • बहादुर के पास एक नेपाली टोपी, कुछ लाल पत्थर एक पुरानी ताश की गड्डी थी |

Bseb Class 10 Hindi बहादुर Subjective

पाठ के साथ
1. अपने शब्दों में पहली बार दिखे बहादुर का वर्णन कीजिए ?

उत्तर – लेखक अमरकांत जी के अनुसार पहली बार देखे बहादुर ( 11 – 12 ) वर्ष का गोरा रंग चपटा सा मुंह हाफ पेंट हाफ शर्ट भूरा रंग का जूता एवं गले में स्काउट गाइड का रुमाल लिए हुए खड़ा था |

2. लेखक को क्यों लगता है’’ की नौकर रखना बहुत जरुरी हो गया था ?

उत्तर – लेखक के बड़े भाइयो के घर नौकर लगे हुए थे | जिसके कारण उनकी भाभियाँ महारानी बन कर बैठी रहती थी | इसलिए लेखक को एक नौकर रखना जरुरी हो गया था | उसकी पत्नी भी नौकर के लिए धूम मचा रही थी | क्योकि उसने दुसरे के घर पर नौकर का आनंद देखा था |

3. बहादुर अपने घर से क्यों भाग गया था ?

उत्तर – बहादुर की माँ चाहती थी’ की बहादुर घर के कामकाज में हाथ बटाए परन्तु बहादुर ऐसा नहीं करता था | इसलिए उसकी माँ बहादुर से रूठी रहती थी | एक दिन बहादुर ने माँ की प्यारी भैंस को पिटा था | जिसकी कल्पना कर माँ ने भी बहादुर को बहुत पिटा अंततः बहादुर घर छोड़कर भाग गया |

4. बहादुर के आने से लेखक के घर और परिवार के सदस्य पर कैसा प्रभाव पड़ा ?

उत्तर – बहादुर के आने से घर की अच्छी तरह से सफाई होने लगी घर के सदस्यों को काफी आराम मिलाने लगा क्योकि उनके लगभग सभी कार्य बहादुर करने लगा था |

5. किन कारणों से बहादुर ने एक दिन लेखक का घर छोड़ दिया ?

उत्तर – शुरुआत में लेखक के घर बहादुर को बहुत प्यार मिल रहा था | परन्तु कुछ दिनों के बाद उनके घर में बहादुर के साथ अच्छा व्यवहार नहीं होने लगा | छोटी – छोटी गलती के लिए उसे मार पड़ने लगी | लेखक के रिश्तेदारों द्वारा भी उसके ऊपर चोरी का झूठा इल्जाम लगाया गया | जिसके कारण बहादुर का मन लेखक के घर से उठ गया | जब उसके हाथ से सिलबट्टा टूट गया तब और ज्यादा डर गया | अंततः लेखक का घर छोड़कर भाग गया |

6. घर आए रिश्तेदारों ने कैसा प्रपंच रचा और उसका क्या परिणाम निकला ?

उत्तर – लेखक के घर आए रिश्तेदारों ने 11 रुपया खो जाने का प्रपंच रचा | उसका परिणाम यह निकला की बहादुर को काफी कठिनाइयाँ सहनी पड़ी | उसी दिन से बहादुर काफी उदास रहने लगा और लेखक के घरवाले छोटी सी बात – बात पर उसे डाटने और मारने लगे |

bahadur class 10 hindi chapter 6 bihar board

7. लेखक को क्यों लगता है ? की जैसे उस पर एक भारी दायित्व आ गया हो ?

उत्तर – लेखक को ऐसा इसलिए लगता है | की जैसे उस पर एक भारी दायित्व आ गया हो | ऐसा इसलिए की लेखक के यहाँ एक नौकर आ गया है | जिसकी सारी जिम्मेवारी उसी पर है

8. साले साहब से लेखक को कौन सा किस्सा असाधारण विस्तार से सुनना पड़ा ?

उत्तर – साले साहब से लेखक को बहादुर के बारे में की वह कैसे घर से भागा और क्यों भागा यही किस्सा असाधारण विस्तार से सुनना पड़ा |

9. बहादुर के नाम से दिल शब्द क्यों उड़ा दिया गया विचार करे ?

उत्तर – बहादुर के नाम से दिल शब्द निर्मला नए उड़ा दिया ! क्योकि वह प्यारा लड़का था ! तथा उसकी मीठी स्वर से लेखक प्रसन्न होकर आदर्श जीवन का शिक्षा देने लगते थे | इसलिए निर्मला नए दिलजीत का प्रभाव अपने पर लाना चाहा |

10. व्याख्या करे ?

क. उसकी हंसी बहुत कोमल और मीठी थी ? जैसे फुल की पंखुड़िया बिखर गई हो ?

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी हिंदी पाठ्य पुस्तक में अमरकांत द्वारा लिखित बहादुर शीर्षक से लिया गया है ! लेखक इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है की दिल बहादुर की शहजाद स्लोपन के साथ उसकी कोमल हंसी तथा मीठी बोली सबके मन को मोह लेती थी | जब हंसता था तो ऐसा लगता था की गुलाब की पंखुड़िया बिखर गई हो |

ख. पर अब बहादुर से भूल गलतियाँ अधिक होने लगी थी ?

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी हिंदी पाठ्य पुस्तक में अमरकांत द्वारा लिखित बहादुर शीर्षक से लिया गया है ! लेखक इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है की मनुष्य किसी काम के सम्पर्क में लगातार बना रहता है | तो उसको उस काम में उबन महसूस होने लगता है | ठीक उसी प्रकार बहादुर का भी को अहमियत नहीं रह गया था | क्योकि लेखक और उनके परिवार के सम्पर्क में वह पूरी तरह आ गया था | और उसका महत्व दिन प्रतिदिन घटता जा रहा था | जिसके कारण उससे अनेक प्रकार की बोलिया सुननी पड़ती थी | जिसके कारण बहादुर से भूल गलतियाँ अधिक होने लगी थी |

Bihar Board Class 10 Hindi गध Chapter 6 बहादुर ( Bahadur )

ग. अगर वह कुछ चुराकर ले गया होता तो संतोष हो जाता ?

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी हिंदी पाठ्य पुस्तक में अमरकांत द्वारा लिखित बहादुर शीर्षक से लिया गया है ! लेखक इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है की जब बहादुर लेखक का घर छोड़ कर भाग जाता है ! तो लेखक तथा उनका परिवार अफ़सोस करते है ! क्योकि वह उनके घर पर किसी प्रकार का बेईमानी तथा नुक्सान नहीं करता था ! यह सोचकर लेखक बोलते है ! की अगर वह कुछ लेखर भी जाता तो हमारा परिवार संतोष पूर्वक रहता क्योकि वह ईमानदार लड़का था | यहाँ तक की वह अपने साथ लाया सामान भी छोड़कर चला गया था |

घ. यदि मैं न मारता , तो शायद वह न जाता ?

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी हिंदी पाठ्य पुस्तक में अमरकांत द्वारा लिखित बहादुर शीर्षक से लिया गया है ! लेखक इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है की लेखक के परिवार वाले उसको भुत मारते – पिटते और गाली भी देते थे ! परन्तु उसको बुरा नहीं लगता था ! क्योकि वह सबसे अच्छा अमरकांत जी को मानते थे ! लेकिन जब अमरकांत जी उस पर हाथ छोड़ देते है ! तो उसकी आत्मा में दुःख पहुंचता है ! जिसके कारण वह लेखक का घर छोड़ कर भाग जाता है ! उसी समय लेखक को अफ़सोस होता है ! की अगर मैं नहीं मारता तो शायद वह घर छोड़कर नही जाता |

11. काम धाम के बाद रात को अपने विस्तर पर गए बहादुर का लेखक किन शब्दों में चरित्र चित्रण करते है | चित्र का आशय स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर – काम धाम के बाद रात को अपने विस्तर पर गए बहादुर का लेखक स्वाभाविक वर्णन किया है ! वह बरामदे में टूटी चारपाई पर अपना विस्तर बिछा था ! पौकेट से नेपाली टोपी निकाल कर पहन लेता था ! और अन्य खिलौना निकाल कर खेलने लगता था | फिर अंत में पहाड़ी गाना गा कर सो जाता था |

12. बहादुर पर ही चोरी का आरोप क्यों लगाया जाता है ? और उसपर इस आरोप का क्या असर पड़ता है ?

उत्तर – बहादुर पर ही चोरी का आरोप इसलिए लगाया जाता है ! क्योकि वह एक नोकर होता है | प्रायः नौकर – चाकर ही चोरी करते है ! या उनको कमजोर माना जाता है | यह आरोप लेखक के रिश्तेदार ही लगाते है ! जिसके कारण वह बच्चो को 2 और 4 रुपया देने से बच जाए ! इस आरोप का असर बहादुर पड़ बहुत बड़ा [पड़ता है | तथा उसके दिल के अंदर दरार पड़ जाता है | तथा उसका दिल टूट जाता है |

13. बहादुर के चले जाने पर सब पछतावा क्यों होता है ?

उत्तर – बहादुर के चले जाने पर सब को पछतावा इसलिए हो रहा था ! क्योकि उन लोगो को अब आराम नहीं मिलेगा ! बहादुर एक परिश्रमी लड़का था ! वह घर का हर काम करता था | तथा जाते समय लाया हुआ सामान तथा अपना वेतन भी नहीं ले गया था ! इसलिए बहादुर के चले जाने के बाद सब को पछतावा हो रही थी |

Class 10th Hindi Notes Bahadur Question Answer Bihar Board

14. बहादुर , किशोर , निर्मला , और अमरकांत का चरित्र चित्रण करे ?
बहादर का चरित्र चित्रण करे ?

उत्तर – बहादुर कहानी का सबसे मुख्य पात्र है | इस पाठ के लेखक अमरकांत है ! बहादुरजिसका घर बिहार नेपाल के बॉर्डर पर था | एक दिन माँ के हाथ से मार खाकर बहादुर गोरखपुर भाग आया !! लेखक ने बहादुर को अपने घर का नौकर बना लिया | बहादुर ( 11 – 12 ) वर्ष का एक हसमुख लड़का था !! शुरुआत में वह लेखक के यहाँ परिवार के एक सदस्य के जैसा रहा परन्तु कुछ दिनों के बाद से उसे छोटी मोटी लगती करने पर भी गाली और मार मिलने लगी | बहादुर पर झूठे चोरी के आरोप भी लगे जिसके कारण वह लेखक के यहाँ काफी उदास रहने लगा और एक दिन लेखक का घर छोड़ कर चला गया |

किशोर का चरित्र चित्रण करे ?

उत्तर – किशोर लेखक अमरकांत का पुत्र था | जो कामचोर और शानो शौकत तथा रोब दार के स्वभाव का था | उसको अपने आप पर बहुत गर्व था | वह बिना गलती के बहादुर को पिटता रहता था |

निर्मला का चरित्र चित्रण करे ?

उत्तर – निर्मला लेखक अमरकांत की पत्नी थी | जो आधुनिकता में नाक चौड़ी दुसरे की सहान शौकत करने वाली महिला थी | वह नौकर के लिए लेखक से हमेशा कहती थी | की हमें नौकर की जरूरत है | जब नौकर पहली बार आता है | तो उसको अपने बेटे की तरह मानती है | लेकिन आस – पडोस के लोगो के चढाने से वह बहादुर को छोटे नौकर की तरह मानती है | तथा उसकी पिटाई भी करती है |

अमरकांत का चरित्र चित्रण करे ?

उत्तर – लेखक अमरकांत स्त्री की बातो में आने वाले मिश्रित व्यक्ति थे ! वह बहुत विद्वान समझदार तथा सुशिल व्यक्ति थे ! लेकिन पत्नी की बातो में आकर नौकर का साथ छोड़ देते है | जिसके कारण बहादुर घर से भाग जाता है |

बहादुर नोट्स इन हिंदी – bahaadur notes in hindi 2023

15. निर्मला को बहादुर के चले जाने पर किस बात का अफ़सोस होता है ?

उत्तर – निर्मला को बहादुर के चले जाने के बाद इस बात का अफ़सोस होता है ! की अब निर्मला की समाज में नाक कट जाएगी !! क्योकि उसके आराम का दिन जाने का एहसास होने लगता है ! तथा सबसे बड़ी बात यह थी ! की अगर बहादुर को अच्छी तरह से सजा सवार कर तथा वेतन के साथ बिदा करती तो शायद अफ़सोस नहीं होता |

16. कहानी छोटा मुंह बड़ी बात होती है ? इस दृष्टि से बहादुर कहानी पर विचार करे ?

उत्तर – प्रस्तुत पंक्ति हमारी हिंदी पाठ्य पुस्तक में अमरकांत द्वारा लिखित बहादुर शीर्षक से लिया गया है ! लेखक इस पंक्ति के माध्यम से यह बताना चाहते है की एक छोटी सिख समाज के रीती रिवाज पर बहुत बड़ा फर्क डालता है ! उन्होंने समाज को विकसित बनाने का मांसा प्रकट किया है |

17. कहानी के शीर्षक की सार्थकता स्पष्ट कीजिए ? लेखक नए इसका शीर्षक नौकर क्यों नहीं रखा ?

उत्तर – लेखक नए शीर्षक की सार्थकता बहादुर है ! लेखक नए समाज के मानव दोस्त को क्रमबद्ध किया ! लेखक शीर्षक नौकर इसलिए नहीं रखा क्योकि बहादुर आदर्श चरित्र वाला व्यक्ति था | जो नौकर नहीं बन सकता है |

Rate this post

Leave a Comment